दांत प्रकृति द्धारा दिया गया उपहार है। दांतों को प्राकृतिक चक्की भी कह सकते हैं। दांतों को सदाबहार स्वस्थ रखने के लिए विशेष ध्यान देना अति जरूरी है। स्वस्थ दांतों के लिए उचित टूथब्रश, टूथब्रश रखरखाव, टूथब्रश साफ सफाई आदि खास नियम हैं। क्योंकि गंदा, पुराना टूथब्रश भी कीटाणुओं बैक्टीरिया का घर बन जाता है। जिससे विभिन्न बीमारियां होने का खतरा बना रहता है। सर्व अनुसार 80 प्रतिशत लोग टूथब्रश इस्तेमाल पर ध्यान नहीं देते। जिसके कारण विभिन्न बीमारियां आसानी से शरीर को घेर लेती हैं। दंत चिकित्सक अनुसार ब्रश करने के नियम फाॅलो करने चाहिए। दांतों पर नियमित ब्रश करना, टूथब्रश साफ सफाई, रख रखाव और ब्रश इस्तेमाल की जानकारी विस्तार से निम्न प्रकार दी गई है।

टूथब्रश इस्तेमाल करने के नियम 

TOOTHBRUSH-CARE-TIPS, toothbrush-ka-istemal, care-of-tooth-brush, hindi-tips-for-tooth-brush, tooth-brush-uses-rules

लचीला टूथ ब्रश
दांतों की साफ सफाई में इस्तेमाल किया जाने वाला टूथब्रश हमेशा लचीला - साॅफ्ट होना चाहिए। जिससे दांत मसूड़ों पर रेशेस खरोच निशान नहीं पड़ें। और दांत सुरक्षित रहें। हमेशा अच्छे टूथब्रश ही इस्तेमाल करें। सख्त - निम्न क्वालिटी का टूथब्रश इस्तेमाल नहीं करें।

दांतों पर टूथ करने का समय
सुबह के वक्त दांतों की सही से सफाई करने में 3 मिनट तक का समय लेना चाहिए। 1.5 मिनट तक ऊपर उबड़ें दांत साफ करें। और 1.5 मिनट तक निचले जबड़े दांतों की साफ सफाई करें। अधिकत्तर लोग मात्र 1 मिनट भी अच्छे से ब्रश नहीं करते हैं। रात्रि सोने पर मुंह में बहुत से दूषित विषाक्त बैक्टीरिया मुंह में जमा होते हैं। जिन्हें अच्छे से साफ करना जरूरी होता है। और रात्रि भोजन के बाद भी डेढ मिनट तक ब्रश करें। जब कोई दांतों में फंसने वाली चीज खायें तो ब्रश करना नहीं भूलें।

टूथब्रश रखरखाव
टूथब्रश इस्तेमाल के बाद अच्छे से साफ कर साफ सुथरी जगह पर हैंग करें। ब्रश में गंदगी होने से डायरिया - स्किन इंफेक्शन का खतरा हो सकता है। और टूथ ब्रश शौचालय, शैच सीट के आसपास नहीं रखें। शौच सीट से 4-5 मीटर दूरी पर कम से कम टूथब्रश सुखा कर हैंग करें। क्योंकि टूथब्रश में बैक्टीरिया जल्दी पनपते हैं।

टूथब्रश हैंग करे
टूथब्रश इस्तेमाल कर अच्छे से साफ कर हैंग करें। किसी बंद कंटेनर, मग आदि में नहीं रखें। टूथब्रश का सूखना जरूरी है। क्योंकि गीला - नमी वाले टूथब्रश पर बैक्टीरिया जल्दी पननते हैं। टूथब्रश गीली बंद जगह में रखने से टूथब्रश ही बीमारियों का कारण बन जाता है। टूथब्रश को उल्टा नहीं टांगें। उल्टा टांगने पर ब्रश के रेशों में पानी के देर तक जम रहता है। टूथ ब्रश हो हमेशा सीधा खड़ा कर रखें। गलत तरीके से टूथ ब्रश रखने पर देर ब्रश देर से सूखता है। और टूथब्रश होल्टर, ब्रश हैंगर या ब्रश वाली जगह को भी हमेशा साथ सुथरा रखें।

टूथब्रश कैसे रखें
एक ही कंटेनर में सभी सदस्यों के टूथब्रश नहीं रखें। टूथब्रश आपस में संपर्क में आने से भी सभी ब्रश में बैक्टीरिया तेजी से पनपने लगता है। टूथब्रश आपस में मिलने पर भी बैक्टीरिया से बीमारियों का कारण बन सकता है।

इस्तेमाल से पहले टूथब्रश धोना
ब्रश इस्तेमाल से पहले अच्छे से धो लें। क्यों ब्रश में कई कीटणु पहले से मौजूद होते हैं। क्योंकि ब्रश करने के बाद भी मुंह में बहुत से सूक्ष्म कीटाणु ब्रश में मौजूद होते हैं। और बाहरी वातावरण विभिन्न सूक्ष्म कीटाणु टूथब्रश पर चिपक जाते हैं। अगर टूथब्रश अच्छे से सुखाकर साफ सुथरी जगह पर हैंग किया है तो ब्रश बिना गीला किये पेस्ट लगाकर ब्रश करें। स्वस्थ ब्रश को बिना गीला कर ब्रश करने से झाग कम बनते हैं, और दांतों की सफाई भी अच्छे से हो जाती है। टूथब्रश असरिक्षत लगने पर धोने के बाद ही इस्तेमाल करें।

पुराना टूथब्रश बदलना
टूथब्रश को 90 से 100 दिनों के अन्दर बदल लेना चाहिए। क्योंकि टूथ ब्रश भी रासायनिक अभिक्रिया करता है। ब्रश पुराना होने पर कीटाणु आसानी पनपने लगते हैं। और बैक्टीरिया जमाने का खतरा बना रहता है। और पुराने टूथब्रश से दांतों की सफाई अच्छे नहीं जा सकती। डेंटिस्ट टूथ ब्रश ही इस्तेमाल करें।

टूथब्रश पुराना होने पर कूड़े में नहीं फेंके। पुराने वाले को घर के छोटे मोटे कार्य करने में इस्तेमाल करें। क्योंकि पुराना बेकार पड़ा टूथब्रश भी कई आश्चर्यजनक कार्य कर सकते हैं।