आंवला मुरब्बा के फायदे amla murabba ke fayde Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide आंवला मुरब्बा के फायदे amla murabba ke fayde - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

आंवला मुरब्बा के फायदे amla murabba ke fayde

(Healthy Amla Murabba)आंवला मुरब्बा के औषधीय गुण : पौष्टिकता से भरपूर आंवला मुरब्बा में कैरोटीन, विटामिन ए, विटामिन बी कम्पलैक्स, विटामिन सी, आयरन, फाइबर, कैल्शियम, फाॅस्फोरस, मैग्नीशियम, जिंक, क्रोमियम, काॅपर खनिज आदि तत्व मौजूद हैं। खास पोषक तत्वों के एक साथ होने से रिच एंटीआक्सीडेंट के साथ एंटीबैक्टीरियल एजेन्ट भी है। आंवला मुरब्बा शरीर को स्वस्थ और रोगमुक्त करने में सहायक है।

आंवला मुरब्बा के फायदे / अमला मुरब्बा बेनिफिट्स (Health benefits of Amla Murabba) Amla Murabba ke Fayde


आंवला मुरब्बा के फायदे, अमला मुरब्बा बेनिफिट्स, Health benefits of Amla Murabba, Amla Murabba ke Fayde, healthy amla murabba benefits, मुरब्बा आंवला


आंखों के लिए उत्तम आंवला मुरब्बा
आंखों की रोशनी कमजोर होने पर और आंखों की भेंगापन समस्या में रोज आंवला मुरब्बा दूध या फिर फल रस के खाना फायदेमंद है। आंवला मुरब्बा रिच कैरोटीन, विटामिन बी कम्पलैक्स, विटामिन सी युक्त खास एंटीआॅक्सीडेंट है। इसी लिए एक्सपर्ट चिकित्सक आंखों की कमजोरी समस्या में आंवला मुरब्बा खाने की सलाह देते हैं। आंवला मुरब्बा तेजी से आंखों की समस्याओं को दूर करने में सहायक है। आंवला मुरब्बा आंखों के लिए उत्तम सुरक्षित आहार है।

बच्चों के लिए आंवला मुरब्बा अमृत औषधि रूप
आंवला मुरब्बा बच्चों के लिए स्वादिष्ट और पौष्टिक आहार है। आंवला मुरब्बा किसी टाॅनिक स्रोत से कम नहीं है। आंवला मुरब्बा बच्चों की आंखों, मस्तिष्क, पाचन और लीवर को स्वस्थ सुचारू बनाये रखने का उत्तम स्रोत है। आंवला मुरब्बा बच्चों के लिए टाॅनिक स्रोत माना जाता है। आंवले से बच्चों के लिए कई तरह के टाॅनिक, हेल्दी पेय पदार्थ, सिरप बनाये जाते हैं।

अल्सर, पेट खराबी और कब्ज एसिडिटी नाशक आंवला मुरब्बा
आंवला मुरब्बा पेट सम्बन्धित समस्याओं जैसे पेट अल्सर, कब्ज, पेट जलन, एसिड रिफ्लेक्स, अपचन आदि में औषधि रूप है। रोज सुबह खाली पेट 1 आंवला मुरब्बा खायें। आंवला फाइबर विटामिन कम्पलैक्स युक्त पोषक तत्वों का स्रोत है। जोकि पेप्टिक अल्सर में आंवला मुरब्बा और आंवला जूस उत्तम पोषण है।

आंवला मुरब्बा बढ़ाये इम्यून सिस्टम
आंवला मुरब्बा रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का अच्छा माध्यम है। आंवला मुरब्बा बदलते मौसम में सर्दी - जुकाम, बुखार, वायरल संक्रमण से शरीर को बचाने में सक्षम है। आंवला मुरब्बा एंटीआॅक्सीडेंट के साथ एंटीबैक्टीरियल स्रोत भी है।

त्वचा रखे स्वस्थ
आंवला मुरब्बा विटामिन बी कम्पलैक्स, विटामिन सी, विटामिन ई मिनरल तत्वों का मिश्रण है। आंवला मुरब्बा त्वचा पर एक्स्फोलीऐशन की तरह काम करता है। जोकि एन्टी एस्ट्रिंजेन्ट से त्वचा को झुर्रियों, मुहांसो, दाग से बचाने में सहायक है। जिससे त्वचा आयु बढ़ने पर भी सदाबहार एक जैसी बनी रहती है। आंवला मुरब्बा त्वचा के लिए किसी ब्यूटी एंजेंट से कम नहीं है।

बालों के लिए रिच पोषण आंवला मुरब्बा
आंवला मुरब्बा गुनगुने दूध के साथ पीने से बाल टूटने झड़ने और बाल सफेद होने की समस्या को रोकने में सहायक है। आंवला मुरब्बा बालों के लिए खास प्राकृतिक पोषण स्रोत है।

हृदय स्वस्थ रखे आंवला मुरब्बा
आंवला मुरब्बा जिंक, क्रोमियम, काॅपर और विटामिन कम्पलैक्स का उत्तम भण्डार है। आंवला मुरब्बा शरीर से वी.एल.डी.एल. और ट्राइग्लिसराइड्स लेवल घटाने में सहायक है। कोलेस्ट्राॅल बढ़ने, स्ट्राॅक, वहिकाओं के ब्लाॅकेज और वहिकाओं में सूजन से बचने के लिए रोज 1 आंवला मुरब्बा खायें। आंवला मुरब्बा हृदय स्वास्थ्य के लिए उत्तम आहार है।

रक्त की कमी दूर करे आंवला मुरब्बा
आंवला मुरब्बा आयरन और विटामिन सी का उत्तम स्रोत है। आंवला मुरब्बा Haemoglobin लेवल बढ़ाता है। आंवला दूध के साथ सुबह खली पेट खायें। और दिन के खाने के 2 घण्टे बाद आंवला मुरब्बा खायें। एनीमिया, मासिक धर्म बिलीडिंग और अन्य तरह से शरीर में रक्त कमी होने पर रोज आंवला मुरब्बा खायें। आंवला मुरब्बा रक्त बढ़ाने का प्राकृतिक रूप से उत्तम स्रोत है।

रक्त साफ करे आंवला मुरब्बा
रक्त खराब होने पर, नसो और वहिकाओं के ब्लाॅकेज समस्या में आंवला मुरब्बा सुबह खाली पेट खायें। और आंवला मुरब्बा शरीर से विषाक्त पदार्थ निकाले में सक्षम है। आंवला मुरब्बा एक तरह से Blood Cleanser का काम करता है।

महिलाओं के लिए आंवला मुरब्बा बरदान
आंवला मुरब्बा महिलाओं के लिए प्राकृतिक टाॅनिक है। गर्भावस्था के दौरान रिच विटामिनस मिनरलस भ्रूण विकास और इम्यून सिस्टम मजबूत करने में सहायक है। मासिक धर्म में स्राव होने से रक्त की कमी दूर करने और दर्द से आराम पाने के लिए आंवला मुरब्बा सेवन उत्तम स्रोत है। और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए भी आंवला मुरब्बा सरक्षित उत्तम आहार है। आंवला मुरब्बा रक्त संचार बढ़ाने के साथ महिलाओं में प्रजन्न शक्ति भी बढ़ाता है। और फर्टिलिटी (बांझपन) समस्या में रोज सुबह या फिर रात्रि सोने से 1 घण्टे पहले आंवला मुरब्बा गर्म दूध के साथ सेवन करना फायदेमंद है। आंवला मुरब्बा महिलाओं में अपचन, भूख नहीं लगना, फर्टिलिटी, पेट गैस रहने, प्रजन्न कमजोरी जैसे विभिन्न समस्याओं से भी छुटकारा देता है। आंवला मुरब्बा महिलाओं के लिए उत्तम आहार स्रोत है।

आंवला मुरब्बा सेवन विधि और सावधानियां
  • आंवला मुरब्बा प्राकृतिक रूप से उत्तम खुराक है। आंवला मुरब्बा मस्तिष्क, किड़नी, हृदय, लिवर, पाचनतंत्र को प्रभावित करता है। आंवला मुरब्बा चिकित्सक की सलाह से लें।
  • रोज 15 ग्राम तक ही आंवला मुरब्बा खाना फायदेमंद है।
  • आंवला मुरब्बा सुबह खाली पेट और 1 कप दूध के साथ लें।
  • आंवला मुरब्बा भोजन के साथ नहीं खायें।
  • आंवला मुरब्बा भोजन के 2 घण्टे अंतराल में खायें।
  • आंवला मुरब्बा रिच विटामिनस मिनरलस पोषक तत्वों को स्रोत है। आंवला मुरब्बा सीमित मात्रा में खायें। रोज 1 आंवला मुरब्बा ही खायें।
  • आंवला मुरब्बा अधिक मात्रा में खाने से गुर्दें की पथरी बन सकती है।
  • आंवला मुरब्बा ज्यादा खाने से पेशाब में जलन दर्द समस्या हो सकती है।
  • अधिक मात्रा में आंवला मुरब्बा सेवन रक्त शर्करा लेवल बढ़ा सकता है।
  • आंवला मुरब्बा रक्तचाप बढ़ा सकता है।
  • रोज लगभग 15 ग्राम आंवला मुरब्बा ही खायें। अधिक मात्रा में आवला मुरब्बा सेवन सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।