(Pregnancy Symptoms) गर्भावस्था को लेकर बहुत से महिलाओं में संदेह सा बना रहता है। महिला गर्भवती होने पर पहले और दूसरे सप्ताह में कुछ खास लक्षण होने आरम्भ हो जाते हैं। इस दौरान गर्भ ठहरने से भ्रूण विकास होना आरम्भ हो जाता है। गर्भ ठहरने पर क्रोनिक गोडोट्रोपिन होर्मोंनस बनने से महिलाओं में आम लक्षण और बदलाव आना स्वाभाविक है। प्रेग्नेंट होने पर कुछ खास आम लक्षणों से गर्भ ठहरने का पता आसानी लगाया जा सकता है। जिससे महिलाएं होने वाले बच्चे के प्रति जागरूक हो जायें। जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ रहें। और मां स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सके।

Pregnancy-Symptoms-in-hindi, pregnant-hone-par-lakshan, garvati-ke-lakshan, Pregnancy-lakshan-kya-hai, Pregnancy-lakshan, best-symptoms-of-Pregnancy, garvati-lakshan

गर्भावस्था के सामन्य लक्षण / Early Signs of Pregnancy 

पीरियड आना बंद होना / Pregnancy Menopause

गर्भ ठहरने पर पीरियड़ का आना बंद हो जाता है। यह पहला आम लक्षण है। महिलाओं में हल्की ब्लीड़िग हो सकती है। माहवरी नहीं आने को परी तरह से गर्भ ठहरना नहीं मना जा सकता है। परन्तु आमतौर पर गर्भ ठहरने पर माहवरी बंद हो जाती है। और योनि में ऐंठन की स्थिति बन जाती है।

उल्टी और जी मिचलना / Pregnancy Vomiting
पीरियड़ बंद होने के साथ-साथ महिलाओं में उल्टी और जी मिचलाने के समस्या गर्भ ठहरने की ओर संकेत करते हैं

स्वाद नहीं लगना / Food Aversions
गर्भ ठहरने पर मुंह का स्वाद बदल जाता है। खाने-पीने की चीजों का जायका स्वाद पहले से भिन्न लगने लगता है। अधिकत्तर महिलाएं खट्टी चीजें सेवन करना पसंद करती हैं।

गैस कब्ज बनना / Gas Constipation
गर्भ ठहरने पर पेट गैस और छाती में हल्की जलन के लक्षण भी होते हैं। गर्भ ठहरने से पाचन क्रिया में बदलाव आना और कब्ज रहने की समस्या भी आम लक्षण है।

बार-बार पेशाब आना / Frequent Urination
अकसर गर्भ ठहरने पर हार्मोंस बदलाव एक आरंभिक प्रक्रिया है। भ्रूण विकास के कारण बार-बार पेशाब आने की समस्या होने लगती है।

स्तनों का आकार बदलना / Resize of Breasts
गर्भ ठहरने पर महिलाओं में प्राकृतिक रूप से स्तनों के आकार में बदलाव होना आम लक्षण है। और स्तनों में दर्द गांठ की समस्या होती है।

थकान, तनाव और चिड़चिड़ापन / Fatigue, Stress and Irritability
अधिकत्तर महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान थकान, तनाव और चिड़चिड़ापन समस्या होने लगती है। इस स्थिति में परिवारजन, पुरूर्षों को गर्भवती का खास ध्यान रखना होता है। तनाव चिड़चिडेपन का असर जच्चा-बच्चा दोनों पर पड़ सकता है।

सरदर्द और सांस दिक्कत / Headache and Breath Trouble
गर्भ ठहरने पर सरदर्द और सांस लेने की समस्या भी एक तरह से आम लक्षण है।

यह उपरोक्त लक्षणों से गर्भ ठहरने का पता आसानी से लगाया जा सकता है। परन्तु यदि फिर भी कुछ संदेह होता है तो प्रेग्नेंसी किट, टयूब या घरेलू तरीकों से early pregnancy test भी आसानी से किया जा सकता है। प्रेग्नेंट होने पर समय पर जच्चा-बच्चा केंद्र जांच करवायें। और स्त्री चिकित्सक (एक्सपर्ट) से डाईट चार्ट बनायें। स्वस्थ मां और बच्चे के लिए संतुलित पौष्टिक आहार अति जरूरी है।