पत्ता गोभी जिस बन्द गोभी के नाम से भी पुकारा जाता है। पौष्टिकता से भरपूर पत्ता गोभी का इस्तेमाल सब्जी, सलाद, चाऊमिन, सूप से लेकर विभिन्न तरह के स्वादिष्ट व्यंजन तैयार करने में इस्तेमाल किया जाता है। बंद गोभी आर्युवेद में खास औषधि रूप भी है। पत्ता गोभी मुख्य रूप से दो रंगों हरी और लाल रंग में होती है। हरी रंग की पत्ता गोभी ज्यादा फायदेमंद है।
पत्तागोभी में आयरन, विटामिन कम्पलैक्स, पोटेशियम, ल्यूपेल, कार्बीनाॅल, अमीनो एसिड, डिनडाॅलिमेथेन, सल्फोरेन, सिनीग्रिन, विटामिन सी, विटामिन ई, बीटा कैरोटीन, ग्लूटाॅमाइन, लैक्टिक एसिड, सिलिकाॅन, फाॅलिक एसिड, आइसोसाइनेटस, प्रोटीन, रेशे, मिनरलस एक साथ मौजूद हैं। पत्ता गोभी का सही इस्तेमाल कर विभिन्न रोगों समस्याओं को जड़ से मिटाया जा सकता है।

पत्तागोभी से खास फायदे / पत्ता गोभी के औषधीय गुण / Health Benefits of Cabbage / Patta Gobhi Se Fayde / Patta Gobhi / Patta Gobhi ke Aushadhiya Gun

Cabbage-Benefits-in-Hindi, Patta-Gobhi-Se-Fayde, पत्ता-गोभी-के-फायदे-और-नुकसान, पत्ता-गोभी - फायदे, Cabbage-Benefits, patta-gobhi

थायराइड में रामबाण दवा

थायराइड ग्रंथि विकारों में पत्तागोभी रस रामबाण औषधि रूप है। रोज सुबह खाली पेट 1 कप पत्ता गोभी रस पीयें। पत्तागोभी रस में कुछ नहीं मिलाएं। पत्तागोभी रस पीने के 2 घण्टे बाद कुछ खायें पीयें। पत्ता गोभी रस सेवन थायराइड में खास फायदेमंद है।
पत्तागोभी के पत्तों पर लाल प्याज रस लगाकर गले के दोनों हिस्सों पर हल्का रगड़ें। और सोते समय गोभी पत्ता गलें पर चिपकायें। फिर बैंडेज, कपड़ें शाल आदि से ढ़क कर सोंयें।

चोट सूजन दर्द मिटाये पत्तागोभी

शरीर में अन्दुरूनी चोट से सूजन दर्द से शीघ्र छुटकारा दिलाने में पत्तागोभी पत्ते फायदेमंद है। पत्तागोभी के पत्तों को चोट ग्रसित अंगों पर चिपका पर पट्टी कर दें। पत्तागोभी पत्ते Pain and Swelling तेजी से घटाने में सहायक है।

सरदर्द मिटाये पत्तागोभी

जिन लोगों को लम्बे समय से सरदर्द की समस्या है। उनके लिए पत्तागोभी खास फायदेमंद है। पत्तागोभी पत्तों को टोप के अन्दर फैलाकर सोते समय पहनकर सायें। पत्तागोभी रस पीयें। और पत्तागोभी पत्तों को माथे पर चिपकायें। लगातार करने से पुराना से पुराना सरदर्द धीरे-धीरे जड़ से मिटाने में सहायक है।

स्तन दर्द मिटाये पत्तागोभी

स्तनों में दर्द सूजन समस्या में पत्तागोभी के अन्दर के पत्तों को स्तनों पर लगायें। पत्तागोभी स्तनों के दर्द सूजन मिटाने में सहायक है। पत्तागोभी एक तरह से एन्टी फ्लैमेन्ट्रीरी है। पत्तागोभी भी अमीनो एसिड, खनिज मिनरलस रिच मात्रा में मौजूद हैं।

रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये पत्तागोभी

पत्तागोभी विटामिनस मिनरलस का भरपूर कम्पलैक्स स्रोत है। पत्तागोभी स्वेत रक्त कणों का गुणवत्ता बढ़ाने और डेमेज रक्त सेल्स मरम्मत करने में सहायक है।

कैंसर रोकथाम पत्तागोभी

पत्तागोभी में सिनीग्रिन, काबीेनाॅल, ल्यूपेल, सल्फोरेन, डिनडाॅलीमेथेन, आइसोसाइनेटस तत्व मौजूद हैं। पत्तागोभी मेटाबाॅलिज्म सिस्टम को सुचारू कर कैंसर सेल्स को मिटाने और नये रक्त सेल्स निर्माण करने में सहायक है।

मोतियाबिन्दु रिस्क घटाये पत्तागोभी जूस

मोतियाबिन्दु रिस्क कम करने के लिए ताजे बंदगोभी पत्तों का रस पीयें। पत्ता गोभी रस, सलाद और सब्जी सेवन करें। पत्तागोभी बीटा कैरोटीन का रिच माध्यम है।

वजन घटाये पत्तागोभी

वजन - मोटापा कम करने के लिए नियमित पत्तागोभी रस और पत्तागोभी सूप पीयें। पत्तागोभी शरीर को अतिरिक्त ऊर्जा पहुंचाता है। और तेजी से फैट वसा लेवल को घटाता है। पत्तागोभी में कैलोरी की बहुत कम पाई जाती है।

बालों के लिए खास पत्तागोभी

पत्तागोभी में सिलिकाॅन, विटामिन ई, विटामिन सी एक साथ मौजूद है। पत्तागोभी बालों की जड़ मजबूत और झड़ने से रोकने में सहायक है। पत्तागोभी बालों पर लगाना और पत्तागोभी रस, सलाद, सूप सेवन करना बालों के लिए लाभकारी है।

अल्जाइमर रिस्क घटाये पत्तागोभी

पत्तागोभी अल्जाइमर खतरे को कम करने में सहायक है। पत्तागोभी दांत और ब्रेन को स्वस्थ रखने में सक्षम है।

रक्त की कमी दूर करे पत्तागोभी

शरीर में रक्त की कमी होने पर नित्य सुबह खाली पेट पत्तागोभी जूस पीयें। और खाने से पांच मिनट पहले पत्तागोभी सलाद खायें। पत्तागोभी में फाॅलिक एसिड, आयरन रिच मात्रा में है। महिलाओं में रक्त कमी तेजी से पूर्ति करने में पत्तागोभी लाभकारी है।

पेट अल्सर मिटाये पत्तागोभी

पेट अल्सर समस्या में पत्तागोभी रस पीयें। पत्तागोभी में ग्लूटामाइन रिच मात्रा में मौजूद है। पेट अल्सर मिटाने में पत्तागोभी जूस, सलाद सेवन फायदेमंद है।

सौन्दर्य निखारे पत्तागोभी

पत्तागोभी पेस्ट में टमाटर रस और बेसन हल्दी मिलाकर चेहरे पर लगाने से त्वचा से दाग धब्बे मुंहासे धीरे-धीरे छूमंत्तर हो जाते हैं। पत्तागोभी त्वचा सौन्दर्य निखार में खास सहायक है।

पाचन दुरूस्त करे पत्तागोभी

पत्तागोभी पाचन तंत्र दुरूस्त रखने में सहायक है। अपचन, कब्ज समस्याओं में पत्तागोभी रस में काला नमक मिलाकर पीयें।

पत्तागोभी सेवन में सावधानियां

  • हमेशा ताजी पत्तागोभी ही इस्तेमाल में लें। मुरझान - सूखी पत्तागोभी इस्तेमाल में नहीं लें।
  • पत्ता गोभी को गर्म पानी से धायें, साफ सफाई, झटाई करें। पत्तागोभी में हरे रंग के बारीक कीड़ा होता है।
  • पत्ता गोभी को खोलकर साफ करें, धायें। फिर काटे।
  • पत्तागोभी पर कीड़ा लगने पर सब्जी, सूप, सलाद आदि तरह से इस्तेमाल नहीं करें।
  • पत्तागोभी रस दिन में 1 कप ही पीयें। अधिक मात्रा में पत्तागोभी जूस नहीं पीयें। पत्तागोभी में पाया जाने वाला रैफिनोस पेट फूलने, अपचन विकार पैदा कर सकता है।
  • पत्तागोभी सलाद सीमित मात्रा में खाएं। अधिक मात्रा में पत्तागोभी सेवन पेट दर्द, पेट गैस, इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • हमेशा साफ सुथरी पत्तागोभी ही इस्तेमाल में लायें।