गुड़ अजवाइन लौंग काढ़ा अमृत औषधि रूप Gud Ajwain Laung Drink Benefits in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide गुड़ अजवाइन लौंग काढ़ा अमृत औषधि रूप Gud Ajwain Laung Drink Benefits in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

गुड़ अजवाइन लौंग काढ़ा अमृत औषधि रूप Gud Ajwain Laung Drink Benefits in Hindi

शीत ऋतु, ठंड मौंसम में सर्दी-जुकाम, कफ-बलगल, संक्रमण, वायरल, फ्लू, गैस, कब्ज, एसिडिटी, वजन घटाने, गठिया- जोड़ों के दर्द, अंगों में सूजन एवं विभिन्न तरह की समस्याओं से एक साथ छुटकारा पाने के लिए पीयें यह खास पेय काढ़ा। जोकि सर्दी मौसम में शरीर के लिए खास पौष्टिक स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है। मात्र सप्ताह में 3 दिन 1-1 कप सुबह-शाम पीने से शरीर स्वस्थ निरोग और इम्यून सिस्टम मजबूत बरकरार बना रहता है। और साथ में यह खास पेय कई रोगों से छुटकारा दिलाने में सक्षम है। शीत ऋतु में स्वथ्य निरोग रहने के लिए पीये गुड़ अजवाइन लौंग युक्त खास पेय काढ़ा। गुड़ अजवाइन लौंग काढ़ा अमृत औषधि रूप भी है।

गुड़ अजवाइन लौंग काढ़ा रेसिपी 

गुड़ अजवाइन लौंग काढ़ा अमृत औषधि रूप,  Gud Ajwain Laung Drink Benefits in Hindi, Gud Ajwain Laung kadha,  Gud Ajwain Laung kadha recipe

सामग्री
  • 50 ग्राम गुड़ 
  • आधा चम्मच अजवाइन पाउडर 
  • 5 लौंग पिसी 
  • डेढ़ कप पानी 
विधि :
गुड के छोटे-छोटे टुक्कड़े़, अजवाइन पाउडर, बारीक पिसी लौंग और 1 कप से थोड़ा ज्यादा पानी लें। गुड़, अजवाइन, लौंग तीनों को 5 मिनट तक चम्मच की सहायता से पानी में मिलायें। गुड़ घुलने पर हल्की आंच में पकायें। लगभग 1 कप तक काढ़ा रहने पर आंच बंद करें। फिर छानकर कप में परोसें। और गर्म - ताजा स्वादिष्ट पौष्टिक काढ़े का लुप्त उठायें।

सेवन :
यह खास पौष्टिक स्वादिष्ट पेय सुबह नाश्ते से 25-30 मिनट पहले पीयें। और रात्रि भोजन से 25-30 मिनट पहले पीयें।

गुड़ अजवाइन लौंग काढ़ा अमृत औषधि रूप / गुड़ अजवाइन लौंग काढ़ा पेय पीने से आश्चर्यजनक फायदे / Gud Ajwain Laung Drink Benefits in Hindi / Gud Ajwain Laung kadha Recipe


अपचन कब्ज गैस पेट समस्याओं से दिलाये आराम 
जिन लोगों को अपचन, कब्ज, गैस, एसिडिटी, पेट फूलने की समस्या है। उनके लिए यह मिश्रण पेय खास फायदेमंद है। यह काढ़ा पेय पाचन शक्ति बढ़ाने का अच्छा स्रोत है।

सर्दी मौसम में वजन घटाये 
अकसर सर्दी मौंसम में वजन मोटापा अधिक बढ़ने की सम्भावनाएं रहती हैं। जो लोग बिना कुछ करे वजन मोटापा घटाना चाहते हैं, उनके लिए यह गुड़, अजवाइन, लौंग पेय खास फायदेमंद है।

सर्दी, जुकाम, कफ से छुटकारा
सर्दी जुकाम, गले की खराश, कफ- खांसी से आराम दिलाने में यह खास पेय पीना फायदेमंद है।

अस्थमा मरीज की लिए रामबाण घरेलू ईलाज 
लम्बे समय से अस्थमा कफ-बलगम खांसी से परेशान व्यक्ति यह खास गुड़-अजवाइन, लौंग पेय काढ़ा सुबह शाम लगातार सेवन करें। मात्र 10-15 दिनों में बिना दुष्प्रभाव के पुरानी खांसी -अस्थमा से छुटकारा मिल जाता है।

जोड़ों के दर्द, गठिया से आराम 
सर्द ठंड़ मौसम में शरीर अंगों में होने वाले दर्द, सूजन, झंझनाहट से आराम दिलाने में यह खास गुड़ अजवाइन लौंग मिश्रण काढ़ा पेय फायदेमंद है। सर्दी ठंड़ मौंसम में यह खास काढ़ा पेय शरीर अंगों के दर्द सूजन झंझनाहट में आराम पाने का अच्छा स्रोत है।

रक्त संचार सुचारू करे 
सर्दी मौसम में वहिकाओं, तंतुओं में रक्त प्रवाह सुचारू स्वस्थ रखने और हाई ब्लडप्रेशर, कोलेस्ट्राॅल नियंत्रण करने में यह काढ़ा खास फायदेमंद है। यह काढ़ा पेय हृदय घात, ब्रेन स्ट्राॅक, बैड कोलेस्ट्राॅल से बचाने में सक्षम है।

कैंसर ट्यूमर रोकथाम 
शरीर में बनने वाले विभिन्न तरह के ट्यूमर, कैंसर स्टेम सेल मिटाने में यह खाय पेय फायदेमंद है। डेमेज कोशिकाओं की मरम्त कर नये कोशिकाओं का निर्माण करता है।

मासिक धर्म में दर्द निवारण
सर्दी मौसम में महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द, हार्मोंस असंतुलन रोकने में यह खास मिश्रण पेय फायदेमंद है।

नेचुरल डिटाॅक्स 
गुड़, अजवान, लौंग मिश्रण खास नेचुरल डिटाॅक्स है। यह पेय रक्त साफ करने एंव पेट से विषाक्त दूषित पदार्थ पसीने, मल, मूत्र के माध्यम से शरीर से निकालने में खास सहायक है। यह एक तरह से नेचुरल ब्लड फिल्टर - प्राकृतिक डिटाॅक्स की तरह काम करता है।

एनीमिया दूर करे
शरीर में रक्त की कमी, एनीमिया रोग से बचाने में यह खास पोषक तत्वों एवं खजिन लवणों से भरपूर काढ़ा पेय फायदेमंद है। यह पेय लाल रक्त कणों का निर्माण और रक्त साफ करता है।

मांसपेसियां हड्डियां करे मजबूत
मांसपेसियां हड्डियां मजबूत बनाने में गुड़, अजवान, लौंग काढ़ा पेय फायदेमंद है। हार्ड वर्कआउट, जिम, कसरत करने वाले व्यक्तियों के लिए यह काढ़ा पेय खास फायदेमंद है।

सावधानियां 
  • डायबिटीज मरीज के लिए यह काढ़ा सेवन मना है।
  • छोटे बच्चों को 2-3 चम्मच से अधिक नहीं दें।
  • मुंह में छाले होने पर यह काढ़ा नहीं पीयें।
  • गर्भवती महिलाएं यह काढ़ा केवल 3-4 चम्मच दिन में 1 बार ही पीयें। यह काढ़ा बाॅडी को अन्दर से गर्म करता है। काढ़ा अधिक पीने पर दुष्प्रभाव हो सकता हैं।
  • यह काढ़ा सीमित मात्रा में पीयें। अधिक पीने से पेट में जलन, पेट दर्द, पेट की गर्मी, आदि विकार हो सकते हैं।