स्वास्थ्यवर्धक अंकुरित काले चने Sprouted Gram, Shaktivardhak Chana in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide स्वास्थ्यवर्धक अंकुरित काले चने Sprouted Gram, Shaktivardhak Chana in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

स्वास्थ्यवर्धक अंकुरित काले चने Sprouted Gram, Shaktivardhak Chana in Hindi

अंकुरित काले चनें स्वास्थ्य के लिए पौष्टिक तत्वों से भरपूर उत्तम आहार है। पौष्टिकता से भरपूर काला चना विभिन्न स्वादिष्ट पकवान - व्यंजन तैयार करने में इस्तेमाल होता है। अगर 100 ग्राम काले चने दानों को रात को भिगो कर रख दें और सुबह उठकर चने फूलने पर खाएं। भिगोए अंकुरित चनों की पौष्टिकता एक वक्त के रिच संतुलित पौष्टिक खाने की पोषण के बराबर होती है। काले अंकुरित चने चबाकर खाना और चने का पानी दोनो ही पौषक तत्वों से भरपूर ताकत, ऊर्जा, डाइजेशन और शरीर सदाबहार निरोग रखने का उत्तम माध्यम है।

स्वास्थ्यवर्धक अंकुरित काले चने / अंकुरित चने खाने के फायदे / Ankurit Kale Chane Khane ke Fayde / Sprouted Gram / Shaktivardhak Chana in Hindi

स्वास्थ्यवर्धक अंकुरित काले चने , Sprouted Gram, Shaktivardhak Chana in Hindi, ankurit kale chane khane ke fayde, अंकुरित चने खाने के फायदे, अंकुरित काले चने, ankurit kale chane, सुबह खाली पेट खा लें मुठ्‌ठीभर अंकुरित चने, subah khali pet kha le muthi bhar ankurit kale chane

काले चने के पौषक तत्व 
प्रोटीन, विटामिन-ए, बी, सी, डी, आयरन, फाइबर, लिनोलिनिक, ओमगा-3, कैल्शियम, कोर्बोहाइड्रेट, मैग्नीशियम, क्लोरोफिल, फास्फोरस, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फैटी एसिड जरूरी मिनरलस तत्वों का रिच न्यूट्रिशन स्रोत है।

काला चना भिगोना का तरीका 
100 ग्राम काला चना को साफ कर, धोकर लें। फिर 1 लीटर पानी में तांबे बर्तन या चीनी मिट्टी बर्तन में भिगो कर 8-10 घण्टे के लिए ढ़क कर रख दें। सुबह पानी छानकर अलग कर दें। चना फूलने पर चबाकर खायें। और चना पानी फेंके नहीं। चना पानी भी इस्तेमाल करें। चना पानी स्वाद में थोड़ा तीखा लगेगा। परन्तु रिच पौषक तत्वों का समावेश से भरपूर है। भिगोया चना और चना पानी दोनों ही ताकत, एनर्जी, रोग निवारण स्रोत है।

सेवन विधि
भिगोये अंकुरित चनों को सुबह उठकर वर्कआउट, व्यायाम अतिरिक्त परिश्रम के बाद बारीक चबाकर खायें। भिगोये चनों को दूध के साथ भी खा सकते हैं। चनों को चीनी, सेंधा नमक, नींबू रस अथवा भूनकर खाने से मिटामिनस - मिनरलस जरूरी पोषण तत्व कम हो जाते हैं। अंकुरित चनों को नाश्ते के तौर पर खायें।
चना पानी में बिना कुछ मिलाकर पी सकते हैं। या फिर चना पानी में शहद या फिर अजवाइन मिलाकर सेवन करें। चना पानी सेवन पाचन सम्बन्धित समस्याओं, तरह-तरह के रोग के निवारण में खास है। चना पानी त्वचा और बालों के लिए खास फायदेमंद है।

भिगोया अंकुरित काले चने खाने के फायदे :

बलवर्धक चना
मात्र 50 ग्राम काला चना रात को भिगो कर सुबह खाने से शरीर को एक वक्त के पौष्टिक भोजन के बराबर पोषण के बराबर है। भिगोया अंकुरित चना रिच प्रोटीन विटामिन मिनरलस ऊर्जा का स्रोत है। जिम, हार्ड वर्कआउट, परिश्रम करने वाले व्यक्तियों के लिए भिगोया काला चना उत्तम पौष्टिक पौषण श्रोत है। अंकुरित काला चना बॉडी बिल्‍डिंग फूडस से भी जाना जाता है।

मस्तिष्क रखे स्वस्थ 
अंकुरित चने में ट्रिप्टोफेन, मैग्नीशियम, क्लोरोफिल मिनरलस मौजूद हैं। जोकि मस्तिष्क स्वास्थ के लिए खास फायदेमंद है। अंकुरित चनों को ब्रेन बूस्टर फूड से भी जाना जाता है।

कब्ज - पाचन विकार निवारण चना 
कब्ज समस्या दूर करने में भिगोये चनें खाना फायदेमंद है। भिगोये चने के 1 गिलास पानी में 1 चम्मच अजवाइन पीसकर 15-20 मिनट तक मिलाकर छोड दें। फिर सेवन करें। चना पेट पाचन से सम्बन्धित समस्त समस्याओं से छुटकारा पाने का अच्छा माध्यम है।

पुरूर्षों की वीर्य शक्ति बढ़ाये काला चना 
पुरूर्षों में स्पर्मकाउंट कमी दूर करने में भिगाये कच्चा चना खाना फायदेमंद है। भिगाये चनों को शहद के साथ खाने से फर्टिलिटी बढ़ाने में सक्षम है। पुरूर्षों की अंदुरूनी कमी दूर करने में अंकुरित चना गाय के दूध के साथ सेवन करना उत्तम माध्यम है। और शरीर हष्ट पुष्ट हड्डियां मजबूत बनाने में अंकुरित कच्चा खाना खास फायदेमंद है।

किड़नी-हार्ट स्वस्थ रखे अंकुरित चना 
भिगोया चना खाने से कोलेस्ट्राॅल लेवल एल.डी.एल. और एच.डी.एल लेवल रिस्क फ्री रहता है। हाई बीपी से बचने के लिए रोज एक मुट्ठी भिगोये अंकुरित चने खाना फायदेमंद है। चना में फाॅस्फोरस, कार्बोहाइड्रेट, क्लोरोफिल, आयरन रिच मात्रा में मौजूद होता है। भिगोया चना खाना किड़नी, हार्ट स्वस्थ सुचारू रखने और रक्त साफ करने में सक्षम है।

डायबिटीज में काला चना
डायबिटीज मरीज के लिए काला चना अति फायदेमंद है। भुना चना हो या फिर अंकुरित काला चना दोनो ही डायबिटीज में शर्करा लेवन नियंत्रण करने और रिच पौषण पहुंचाने में खास सहायक है। जो व्यक्ति लगातार भिगाये अंकुरित कच्चे चने खाते हैं, उनको डायबिटीज की शिकायत कभी नही होती है। डायबिटीज मरीज के लिए अंकुरित काला चना, भुना चना दोनो तरह से फायदेमंद है। 

एनिमिया-खून की कमी दूर करे चना 
अनिमिया मरीज के लिए भिगोया अंकुरित काला चाना बहुत ही फायदेमंद होता है। चना रिच आयरन, प्रोटीन, कैल्शियम श्रोत है। नियमित भिगाए अंकुरित काले चने खाने से शरीर में रक्त पूर्ति आसानी से हो जाती है।

दांत मसूड़ों के लिए चना 
नियमित अंकुरित कच्चे चने चबाकर खाने से दांत मसूड़ों की समस्या हमेशा के लिए दूर रहती है। चनों में फाॅस्फोरस, कैल्शियम, आयरन एंव जरूरी पोषण मौजूद हैं। जोकि दांतों की तरह-तरह की समस्याओं से बचाने में सहायक है।

त्वचा और बालों के काला चना 
अंकुरित काले चना का पानी फेकें नहीं। चने का पानी कब्ज, गैस निवारण साथ-साथ त्वचा में नेचुरल चमक, खुजली, रैशेज समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक है। और चना पानी बालों को पौषण पहुंचाने का उत्तम माध्यम है। चने के पानी से चेहरा और बालों को बिना साबुन के रगड़कर धोयें। स्वस्थ त्वचा और मजबूत बालों के भिगोया चना खाना और चना पानी इस्तेमाल करना खास फायदेमंद है।

इम्युनिटी सिस्टम बढ़ाये चना 
भिगोया चना खाने से शरीर में ताकत और अतिरिक्त ऊर्जा बनाने का उत्तम माध्यम है। कच्चा चना सेवन सर्दी जुकाम, वायरल के खतरों से शरीर को बचाने में रक्षाकवच की तरह काम करता है। कच्चा चना बाॅडी की इम्युनिटी बढ़ाने का अच्छा माध्यम है।