बाल-तोड़ फोड़ा उपचार Boils Treatment in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide बाल-तोड़ फोड़ा उपचार Boils Treatment in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

बाल-तोड़ फोड़ा उपचार Boils Treatment in Hindi

शरीर से बाल का अचानक जड़ से उखड़ जाने और बाल जड़ से खिच (Pull out hair follicle) जाने पर बाल तोड़ फुंसी से सूजन फोड़ा पस बन जाती है। बाल तोड़ होने मुख्य कारण बाल उखडने-खिचने पर त्वचा रोम छिद्र पर बैक्टीरिया संक्रमण धीरे-धीरे फुंसीे, पस, सूजन, दर्द का रूप ले लेती है। जिसे आम भाषा में बाल तोड फुंसी कहा जाता है। बाल तोड़ जांघ, छाती के निचले हिस्से पर, नाजुक जगह पर होने से बाल तोड़ फुंसी के साथ-साथ बुखार, घबराहट की समस्या हो जाती है। बाल तोड़ बड़ी बीमारी नहीं परन्तु जख्म फोड़ा ज्यादा दिनों तक रहने पर घातक हो सकता है। बाल तोड़ होने पर तुरन्त एक्सपर्ट चिकित्सक से सलाह उपचार करवायें।

बाल-तोड़ फोड़ा उपचार / बाल तोड़ से शीघ्र छुटकारा पाने के तरीके / BOILS TREATMENT IN HINDI / BALTOD AYURVEDIC TREATMENT / BALTOD KA ILAJ


बाल-तोड़ फोड़ा उपचार, Boils Treatment in Hindi, बालतोड़ का इलाज, baltod ka ilaj, बालतोड़ के कारण लक्षण इलाज, baltod kyu hota hai, baltod kaise sahi kare, baltod ke dard ka ilaj, boils treatment tips, Home Remedies for Boils, Boils Causes Symptoms Treatment

बाल तोड़ फुंसी साफ-सफाई

बाल तोड़ फुंसी कील को हल्का दबा कर पस गंदगी को रूई डिटोल में भिगो कर अच्छे से साफ कर लें। गन्दा खून निकलने पर बाल तोड़ जल्दी ठीक होता है। बाल तोड़ फुंसी को तभी पिचकायें दबायें जब कील पस बन चुकी हो। शुरूआती साधारण बाल तोड़ फुंसी को न दबायें। शुरूआती साधारण बाल तोड पर गर्म पानी में चुटकी भर नमक मिलाकर सिकाई करना फायदेमंद है।

हल्दी और नींम लेप

बाल तोड़ होने पर हल्दी पाउडर और नींम के हरे पत्तों को पीसकर लेप ग्रसित जगह पर लगाने से बाल तोड़ विकार से जल्दी छुटकारा मिलता है। नींम लेप बालतोड़ समस्या के लिए खास माना जाता है।

घी और मैदा लेप

मैदा को गाय के घी में पका कर हल्का ठंड़ा होने पर बाल तोड़ ग्रसित जगह पर लगाने से बाल तोड़ फुंसी से जल्दी छुटकारा मिलता है। मैदा लेप बालतोड़ के लिए खास है।

दूध और ब्रेड

दूध को पका कर ठंड़ा करें। दूध में ब्रेड घोलकर लेप बाल तोड़ ग्रसित जगह पर लगाने से बाल तोड़ फुंसी सूजन दर्द से जल्दी छुटकारा मिलता है। बाल तोड़ घाव को सुखाने में सहायक है।

मैदा और रूई पट्टी

बालतोड़ होने पर मैदा का पतला घोल बनाकर रूई में लगाकर बाल तोड़ वाली जगह रात को सोत समय लगाने से 2-3 दिनों में बाल तोड़ फुंसी घाव से छुटकारा मिलता है।

हल्दी, सरसों तेल और पीपल छाल रस

त्वचा पर बाल तोड़ होने हल्दी पाउडर और पीपल छाल रस को सरसों तेल में मिलाकर लगाने से बाल तोड़ समस्या से जल्दी छुटकारा मिलता है।

प्याज लहसुन

प्याज और लहसुन रस को रूई में भिगों कर बाल तोड़ फुंसी के चारों तरफ लगायें। प्याज और लहसुन रस रूई में भिगो कर फुंसी के इर्द-गिर्द लगाकर पट्टी करें। यह प्रक्रिया दिन में 2-3 बार करें, पट्टी बदलें। प्याज और लहसुन में सल्फर गुण होता है। जोकि बाल तोड़ विकार को जल्दी ठीक करने में सहायक है। प्याज और लहसुन का रस फोड़े के लिए खास औषधि है।

सुबह-तड़के उठकर गेहूं चबाकर लगाना

बाल तोड़ होने पर सुबह तड़के उठकर बिना कुछ करे। मुंह में 15-20 गेहूं दानों को बारीक चाबायें। फिर थूक लार से मिश्रित गेहूं पेस्ट बालतोड़ जगह पर लगाने से मात्र 48 घण्टे में बाल तोड़ विकार ठीक करने में सहायक है।

मेहंदी पत्ते और काली मिर्च

मेहंदी पत्तों और 2-3 कालीमिर्च दानों को बारीक पीसकर बाल तोड़ फुंसी जगह पर लगाने से बाल तोड़ विकार से जल्दी छुटकारा मिलता है।

कैस्टर आयल और जीरा

जीरे को बारीक पीसकर कैस्टर आयल के साथ मिलाकर लेप बाल तोड़ लगह पर लगाने से बाल-तोड़ समस्या से जल्दी छुटकारा मिलता है। कास्टर आयल और जीरा बीज पाउडर का रस फोड़े के लिए खास है।