यूरिक एसिड ट्रीटमेंट uric acid treatment Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide यूरिक एसिड ट्रीटमेंट uric acid treatment - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

यूरिक एसिड ट्रीटमेंट uric acid treatment

यूरिक एसिड क्या बीमारी है ? : यूरिक एसिड का बढ़ने की समस्या बडी तेजी से बढ़ रही है। आयु बढ़ने के साथ-साथ यूरिक एसिड गाउट आर्थराइटिस समस्या का होना तेजी से आंका गया है। जोकि लाईफ स्टाईल, खान-पान, दिनचर्या के बदलाव से भोजन पाचन प्रक्रिया के दौरान बनने वाले ग्लूकोज प्रोटीन से सीधे यूरिक एसिड (न्यूक्लिओटाइडो) में बदलने की प्रक्रिया को यूरिक एसिड कहते हैं। 

भोजन पाचन प्रक्रिया दौरान प्रोटीन से ऐमिनो एसिड और प्यूरीन न्यूक्लिओटाइडो से यूरिक एसिड बनता है। यूरिक एसिड का मतलब है, जो भोजन खाया जाता है, उसमें प्यूरीन पोष्टिकता संतुलन की कमी से रक्त में असंतुलन प्रक्रिया है। 

जिससे प्यूरीन टूटने से यूरिक एसिड बनता है। यूरिक ऐसिड एक तरह से हड्डियों जोड़ों अंगों के बीच जमने वाली एसिड़ क्रिस्टल है। जोकि चलने फिरने में चुभन जकड़न, जोड़ों गांठों में सूजन दर्द होता है। जिसे यूरिक एसिड कहते हैं। शोध में यूरिक एसिड को शरीर में जमने वाले कार्बन हाइड्रोजन आक्सीजन नाइट्रोजन सी-5, एच-4, एन-4, ओ-3 का समायोजक माना जाता है। 

यूरिक एसिड समय पर नियत्रंण करना अति जरूरी है। यूरिक एसिड बढ़ने पर समय पर उपचार ना करने से जोड़ों गाठों का दर्द, गठिया रोग, किड़नी स्टोन, डायबिटीज, रक्त विकार होने की संभावनाएं ज्यादा बढ़ जाती है। यूरिक एसिड कण्ट्रोल करना अति जरूरी है। यूरिक एसिड को हाइपरयूरिसीमिया से भी जाना जाता है।

यूरिक एसिड ट्रीटमेंट / Uric Acid Treatment, Uric Acid Ka Ilaj


यूरिक एसिड लक्षण-कारण-उपाय, Uric Acid in Hindi, यूरिक एसिड के लक्षण, What is Uric acid, Causes and Symptoms, uric acid ke lakshan, Uric Acid ka Gharelu Upchar, यूरिक एसिड की आयुर्वेदिक तरीके,  यूरिक एसिड क्या बीमारी है? , यूरिक एसिड, Uric Acid, uric acid ka ilaj, यूरिक ऐसिड खान-पान,  uric acid khan pan, Effective Diet Tips to Control High Uric Acid Levels

यूरिक एसिड़ लक्षण / Uric Acid Lakshan

  • पैरो-जोड़ों में दर्द होना।
  • पैर एडियों में दर्द रहना।
  • गांठों में सूजन
  • जोड़ों में सुबह शाम तेज दर्द कम-ज्यादा होना।
  • एक स्थान पर देर तक बैठने पर उठने में पैरों एड़ियों में सहनीय दर्द। फिर दर्द सामन्य हो जाना।
  • पैरों, जोड़ो, उगलियों, गांठों में सूजन होना।
  • शर्करा लेबल बढ़ना।
इस तरह की समस्या होने पर तुरन्त यूरिक एसिड जांच करवायें।

यूरिक एसिड नियत्रंण के आर्युवेदिक तरीके / Uric Acid ka Ayurvedic ilaj, Uric Acid control, Uric Acid Treatment


  • यूरिक एसिड बढ़ने पर हाईड्रालिक फाइबर युक्त आहार खायें। जिसमें पालक, ब्रोकली, ओट्स, दलिया, इसबगोल भूसी फायदेमंद हैं।
  • आंवला रस और एलोवेरा रस मिश्रण कर सुबह शाम खाने से 10 मिनट पहले पीने से यूरिक एसिड कम करने में सक्षम है।
  • टमाटर और अंगूर का जूस पीने से यूरिक एसिड तेजी से कम करने में सक्षम है।
  • तीनो वक्त खाना खाने के 5 मिनट बाद 1 चम्मच अलसी के बीज का बारीक चबाकर खाने से भोजन पाचन क्रिया में यूरिक ऐसिड नहीं बनता।
  • 1 चम्मच शहद और 1 चम्मच अश्वगन्धा पाउडर को 1 कप गर्म दूध के साथ घोल कर पीने से यूरिक एसिड नियत्रंण में आता है।
  • यूरिक एसिड बढ़ने के दौरान जैतून तेल का इस्तेमाल खाने तड़के-खाना बनाने में करें। जैतून तेल में विटामिन-ई एवं मिनरलस मौजूद हैं। जोकि यूरिक एसिड नियत्रंण करने में सहायक हैं।
  • यूरिक एसिड बढ़ने पर खाने से 15 - 20 मिनट पहले अखरोट खायें। अखरोट खाने से पाचन क्रिया शर्करा को ऐमिनो एसिड नियत्रंण करती है। जोकि प्रोटीन को यूरिक एसिड़ में बदलने से रोकने में सहायक है।
  • विटामिन सी युक्त चीजें खाने में सेवन करें। विटामिन सी यूरिक एसिड को मूत्र के रास्ते विसर्ज करने में सहायक है।
  • रोज 2-3 चैरी खाने से यूरिक एसिड नियत्रंण में रखने में सक्षम है। चेरी पैरों गांठों में एसिड क्रिस्टल नहीं जमने देती।

  • सलाद में आधा नींबू निचैड कर खायें। दिन में 1 बार 1 गिलास पानी में 1 नींबू निचैंड कर पीने से यूरिक एसिड मूत्र के माध्यम से निकलने में सक्षम है। चीनी, मीठा न मिलायें।
  • तेजी से यूरिक एसिड घटाने के लिए रोज सुबह शाम 45-45 मिनट तेज पैदल चलकर पसीना बहायें। तेज पैदल चलने से एसिड क्रिस्टल जोड़ों गांठों पर जमने से रोकता है। साथ में रक्त संचार को तीब्र कर रक्त संचार सुचारू करने में सक्षम है। पैदल चलना से शरीर में होने वाले सैकड़ों से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है। तेज पैदल चलना एसिड एसिड को शीध्र नियत्रंण करने में सक्षम पाया गया है। पसीना बहाने के बहुत से फायदे हैं।
  • बाहर का खाना पूर्ण रूप से बन्द कर दें। घर पर बना सात्विक ताजा भोजन खायें। खाने में ताजे फल, हरी सब्जियां, सलाद, फाइबर युक्त संतुलित पौष्टिक आहर लें।
  • रोज योगा आसान व्यायाम करें। रस्सीकूद, योग आसान, व्यायाय यूरिक एसिड को घटाने में मद्दगार है। साथ में योगा-आसान-व्यायाम करने से मोटापा - वजन नियत्रंण रहेगा। यूरिक एसिड कण्ट्रोल में रहता है।
  • ज्यादा सूजन दर्द में आराम के लिए गर्म पानी में सूती कपड़ा भिगो कर सेकन करें।
  • यूरिक एसिड समस्या शुरू होने पर तुरन्त जांच उपचार करवायें। यूरिक एसिड ज्यादा दिनों तक रहने से अन्य रोग आसानी से घर बना लेते हैं।
  • सुबह शाम 10-10 नींम हरी पत्तियां चबाकर खायें। यह तरीका भी यूरिक एसिड़ में पैरों, गांठों के दर्द से निजात दिलाने में सहायक है। नींम पत्तियां यूरिक एसिड़ नाशक है। नींम पत्तियां सेवन के साथ-साथ रोज फास्ट वाकिंग कर पसीना बहायें।
  • आधा नींबू, 50 ग्राम हरी अजमोद डंड़ियां, 50 ग्राम अदरक, 1 खीरा , सभी चीजों को बारीका से काट लें। फिर ऊपर से नींबू निचैड़े। स्वाद के लिए चुटकी भर काला नमक मिलायें।
  • यूरिक एसिड लेवल घटाने के लिए रोज लगभग आधा कप बथुआ का रस पीयें। 2 - 3 घण्टे बाद कुछ खायें।रोज सुबह नास्ते पहले और सोने से 10 मिनट पहले दोनो वक्त सेवन करें। यह खास औषधि तेजी से यूरिक एसिड घटाने में सहायक है।

यूरिक ऐसिड खान-पान परहेज, Uric Acid me Parhej

  • यूरिक एसिड बढ़ने पर मीट मछली सेवन तुरन्त बंद कर दें। नॉनवेज खाने से यूरिक एसिड तेजी से बढ़ाता है। दवाईयां असर कम करती है।
  • यूरिक एसिड बढ़ने पर अण्डा का सेवन पूर्ण रूप से बंद कर दें। अण्डा रिच प्रोटीन वसा से भरपूर है। जोकि यूरिक एसिड को बढ़ाता है।
  • बेकरी से बनी सही खाद्य सामग्री बंद कर दें। बेकरी फूड प्रीजरवेटिव गिला होता है। जैसेकि पेस्ट्री, केक, पैनकेक, बंन्न, क्रीम बिस्कुट इत्यादि।
  • यूरिक एसिड बढ़ने पर तुरन्त जंकफूड, फास्ट फूड, ठंडा सोडा पेय, तली-भुनी चीजें बन्द कर दें। जंकफूड, फास्टफूड, सोडा ठंडा पेय पाचन क्रिया को और भी बिगाड़ती है। जिससे एसिड एसिड तेजी से बढ़ाता है।
  • अधिक ठंड़ा पानी पीने से बचें। सादा शुद्ध पानी पीयें। अधिक ठंड़ा पानी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।
  • चावल, आलू, तीखे मिर्चीले, चटपटा, तले पकवानों का पूरी तरह से खाना बन्द कर दें। यह चीजें यूरिक एसिड बढ़ाने में सहायक हैं।

  • बन्द डिब्बा में मौजूद हर तरह की सामग्री खाना पूरी तरह से बंद कर दें। बन्द डब्बे की खाने पीने की चीजों में भण्डारण के वक्त कैम्किल रसायन मिलाया जाता है। जैसे कि तरह तरह के प्लास्टिक पैक चिप्स, फूड इत्यादि। हजारों तरह के बन्द डिब्बों और पैकेट की खाद्य सामग्री यूरिक एसिड तेजी बढ़ाने में सहायक है। पलास्टिक पैक्ड फूड्स और प्लास्टिक में खाने पीने की चीजें गर्म करने से बचें। प्लास्टिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।
  • एल्कोहल का सेवन पूर्ण रूप से बन्द कर दें। बीयर, शराब यूरिक एसिड तेजी से बढ़ती है। शोध में पाया गया है कि जो लोग लगातार बीयर शराब नशीली चीजों का सेवन करते हैं, 70 प्रतिशत उनको सबसे ज्यादा यूरिक एसिड की समस्या होती है। यूरिक एसिड बढ़ने पर तुरन्त बीयर, शराब पीना बन्द कर दें। बीयर शराब स्वस्थ्य व्यक्ति को भी रोगी बना देती है। बीयर, शराब नशीली चीजें स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।