कदम्ब वृक्ष बहुमूल्य औषधि Kadam / Kadamba Tree in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide कदम्ब वृक्ष बहुमूल्य औषधि Kadam / Kadamba Tree in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

कदम्ब वृक्ष बहुमूल्य औषधि Kadam / Kadamba Tree in Hindi

कदम्ब वृक्ष इमारती लकड़ी, सजावटी समान, कागज, फूलों से सुगन्धित इत्र, बीज से तेल, गोद इत्यादि रूप में इस्तेमाल से लेकर आर्युवेद में खास औषधि के रूप में इस्तेमाल के लिए प्रसिद्ध है। कदम्ब वृक्ष को अनेक नाम जैसे कदम्बिका, कदम्बिकाए, राजकदम्ब, धूल्किदम्ब, Leichhardt pine, Burflower Tree, Neolamarckia Cadamba, kadam Kadamb इत्यादि कई नामों से पुकारा जाता है। आर्युवेद में कदम्ब पेड़ के फूल, पत्तियां, छाल का उपयोग सैकड़ो तरह के रोग विकारों को नष्ट करने में सक्षम है। हिन्दू धर्म अनुसार कदम्ब बृक्ष को Favourite Tree of Lord Krishna "भगवान कृष्ण प्रिय वृक्ष" से भी जाना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान कृष्ण कदम्ब बृक्ष के नीचे बांसुरी बनाया करते थे। कदम्ब बृक्ष की पूजी भी जाती है। कदम्ब फल दिखने में गोल, गहरे हरे, गहरे लाल रंग के होते हैं। फूल गुलाबी, गहरे नांरगी एवं गहरे लाल रंग और सुगंधित खुशबूदार फलों के ऊपरी सिरे में लगते हैं। कदम्ब पत्ते गहरे हरे रंग और नींबू, संतरे, महुआ पत्तों की आकृति में होते हैं। कदम्ब स्वाद में थोड़ा तीखा है, परन्तु सैकड़ों औषधीय गुणों से भरपूर है।

कदम्ब वृक्ष बहुमूल्य औषधि / कदम्ब फूल, पत्तियों, छाल के औषधीय गुण / KADAM / KADAMBA TREE IN HINDI / AYURVEDIC USE OF KADAMB TREE / KADAM TREE KE FAYDE

कदम्ब वृक्ष बहुमूल्य औषधि, Kadam Kadamba Tree in Hindi, Kadam Tree in Hindi, कदम्ब के फायदे, कदम्ब का परिचय, Introduction of Kadamb, कदंब वृक्ष , Health Benefits of Kadamb Tree, कदम्‍ब वृक्ष औषधीय गुण, कदम वृक्ष के औषधीय गुण ,  Kadamba ke Aushadhi Gun, kadam ke fayde, Kadam Tree, Ayurvedic use of Kadamb Tree

बुखार दूर करे कदम्ब 
लगातार बुखार रहने पर कदम्ब की 50 ग्राम छाल और 7-8 तुलसी के पत्तों को बारीक पीसकर 1 गिलास पानी में हल्की आंच में आधे से भी कम होने तक उबालें। हल्का ठंड़ा होने पर 2-2 चम्मच तीनों वक्त सेवन करने से हर तरह के बुखार से तुरन्त आराम मिलता है।

घाव, चोट ठीक करे कदम्ब
कदम्ब चोट घाव, दर्द ठीक करने में सहायक है। कदम्ब की पत्तियों छाल को बराबर मात्रा में बारीक पीसकर उबालें। हल्का गुनगुना होने पर कदम्ब पानी औषधि से सेकन करने से घाव, चोट, दर्द से तुरन्त आराम दिलाने में सहायक है।

पाचन तंत्र ठीक करे कदम्ब 
पेट में गैस कब्ज रहने पर और पाचन में गडबड रहने पर कदम्ब के फल का रस सेंधा नमक के साथ मिलाकर 2-2 चम्मच सुबह शाम सेवन करने से समस्या विकारों से छुटकारा मिलता है। कदम्ब पाचन तंत्र दुरूस्त करने में सक्षम है।

खाज खुजली दूर करे कदम्ब 
शरीर में होने वाली हर तरह की खाज खुजली दूर करने में कदम्ब सहायक है। कदम्ब पत्ते बारीक पीस कर फल के रस साथ ग्रसित जगहों पर लगाने से तुरन्त आराम मिलता है।

पैरों, हाथों की सूजन, मोच दर्द ठीक करे कदम्ब
हाथों, पैरों की सूजन, मोच दर्द सूजन में कदम्ब के बीज, पत्ते, छाल को बारीक पीसकर उसमें 1 चम्मच नमक मिलाकर उबालें। फिर सूती कपडे में पानी भिगों कर सेकन करने से सूजन दर्द से तुरन्त आराम मिलता है।

मुंह के छाले ठीक करे कदम्ब 
मुंह में छाले रहने की समस्या दूर करने में कदम्ब सक्षम है। कदम्ब के पत्तों और फल रस को पानी में उबाल कर कुल्ला गर्रारा करने से मुंह के छालों से छुटकारा दिलाने में सहायक है।

महिलाओं में गर्भावस्था के बाद दूध की पूर्ति करे कदम्ब
गर्भावस्था के बाद बच्चे के लिए दूध की कमी होने पर कदम्ब 2-3 चम्मच फल रस, आधा चम्मच शतवार चूर्ण को 1 गिलास दूध के साथ मिलाकर सेवन करने से दूध की कमी दूर करने में सहायक है।

विषनाशक कदम्ब 
कीड़ा, मकोडा, बिच्छू इत्यादि कीडे के काटने पर कदम्ब की छाल बारीक पीसकर पत्तों के रस के साथ निचैंड कर ग्रसित अंग पर रगड़कर लगाने से विष विकार से तुरन्त आराम मिलता है।

दुर्बलता दूर करे कदम्ब
शरीर में कमोजरी आने पर कदम्ब फूल और फल रस सेवन शरीर को अन्दर से शक्तिशाली ऊजावान बनाने में सहायक है।

डायबिटीज में इंसुलिन कदम्ब 
डायबिटीज में कदम्ब बीज सेवन इंसुलिन की तरह मद्दगार है। शर्करा लेवन तुरन्त नियत्रंण करने में सहायक है। कदम्ब फल रस, पत्ती रस, छाल रस डायबिटीज में फायदेमंद है।

मूत्र विकार दूर करे कदम्ब 
पेशाब में जलन, पेशाब से सम्बन्धि विकारों, बीमारियों को दूर करने के लिए कदम्ब की जड़ पीसकर 1 गिलास पानी में हल्की आंच में काढ़ा बनायें। तीनों वक्त 1-1 कप कदम्ब के जड़ों का रस बने काढे का सेवन करने से जल्दी फायदा होता है।

मेडिटेशन ध्यान के लिए शांत वातवरण कदम्ब वृक्ष 
मेडिटेशन, ध्यान, योग, प्रणायाम के लिए कदम्ब वृक्ष के नीचे बैठने से एक तरह से अलग सा शांत और सुगन्धित वातारण महसूस होता है।

घर, आगन, आफिस, पार्क, खाली जगह अपने आसपास कदम्ब वृक्ष लगायें। इससे पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ, ठंडी छाव, इमारती लकड़ी, सजावटी समान बनाने, सुंगधित इत्र बनाने और खास औषधीय रूप में अति फायदेमंद है। कदम्ब वृक्ष की छाव और कदम्ब वृक्ष से आस-पास वायु सुगन्धित वातारण बनाने में सहायक है। मात्र कदम्ब वृक्ष नीचे बैठने से ही मन को शांति और शीतलता मिलती है।