बहुमूल्य स्वास्थ्यवर्धक जौ Jau, Barley in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide बहुमूल्य स्वास्थ्यवर्धक जौ Jau, Barley in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

बहुमूल्य स्वास्थ्यवर्धक जौ Jau, Barley in Hindi

जौ अनाज पौष्टिकता और औषधीय गुणों से भरपूर है। जौ अनाज का इस्तेमाल, जौ आटा, जौ रस, जौ दाने, जौ चोकर आदि तरह से विश्व भर में किया जाता है। विश्व भर में जौ का इस्तेमाल तेजी से हो रहा है। जौ से स्वास्थ्यवर्धक पेय, चॉक्लेक्टस, चिप्स, बिस्टिक्टस, केक, ब्रेड, पिज्जा, बीयर, तरह-तरह की बेकरी सामग्री और सैकड़ो तरह के स्वादिष्ट व्यजंन पकवान बनाये जाते हैं। जौ में विटामिन बी कम्पलैक्स, सेलेनियम, बीटा ग्लूकेन, कॉपर, अमीनो एसिड, फाइबर, आयरन, मैग्नीज, जिंक, मैग्नीशियम गुणों तत्वों का भरपूर भण्डार है। जौ अनाज शरीर में पनपने वाली सैकड़ों बीमारियों विकारों को ठीक करने में सहायक है। गर्मी सर्दी दोनों मौसम में जौ अनाज सेवन एंव जौ रस, पेय शरीरिक दर्द, पेट पाचन से लेकर आन्तरिक बीमारियों को ठीक करने में सहायक है। जौ एक तरह से प्राकृतिक- बीटा ग्लूकेन, एन्टी इन्फ्लामेन्ट्री, एन्टीऑक्सीडेन्ट गुणों से भरपूर स्वास्थ्यवर्धक अनाज है। जौ का आटा, मंडुआ का आटा किंचन में जरूर रखें। जौ, मंडुआ आटे को गेहूं आटे के साथ मिलाकर बच्चे, बड़े सभी के लिए अति स्वास्थ्यवर्धक है।

बहुमूल्य स्वास्थ्यवर्धक जौ / जौ के फायदे / जौ अनाज के आश्चर्यजनक औषधीय गुण / AMAZING BENEFITS OF BARLEY GRAIN / JAU BARLEY IN HINDI / JAU KE FAYDE

बहुमूल्य स्वास्थ्यवर्धक जौ Jau, Barley in Hindi, Jau ke fayde, जौ के फायदे, barley health benefits, barley nutrition, जौ के पानी के फायदा, जौ के स्वास्थ्य लाभ, jau ke labh, jao ke gun, जौ के गुण, Jou ke Fayde, जौ के औषधीय गुण तथा स्वास्थ्य वर्धक लाभ

पेट दर्द, पेट की जलन दूर करने जौ रस 
लम्बे समय से पेट दर्द, पेट में जलन समस्या रहने पर 200 ग्राम जौ के दानों को कूट कर 1 लीेटर पानी में उबालें। हल्का ठंडा होने पर छान कर 1 गिलास पानी में आधा नीबू निचैड कर सेवन करने से पेट से सम्बन्धित दर्द ठीक करने में सहायक है। लगातार 20-25 औषधि सेवन बीमारी को जड़ से मिटाने में सहायक है।

यूरिक एसिड घटाये जौ रस 
यूरिक एसिड बढ़ने से पैरो गांठों में होने वाले दर्द से तुरन्त आरम दिलाने में जौ रस सहायक है। जौ को कूट कर पानी सेवन करें। और रोज 35-40 मिनट सुबह शाम तेज-तेज सैर करने से मात्र 7-10 दिनों में यूरिक एसिड समस्या दूर करने में सहायक है।

गैस कब्ज दूर करने जौ रस
पेट में कब्ज, गैस, एसिडिटी होने पर रोज जौ का उबला पानी फायदेमंद है। 1 गिलास जौ के गुनगुने पानी में 1 चम्मच अदरक रस मिलाकर रोज सुबह खाली पेट सेवन करने से 15-20 दिनों में जौ और अदरक औषधि कब्ज, गैस, एसिडिटी ठीक करने में सहायक है। जौ में बीटा ग्लूकेन मौजूद है।

रक्त बढाये जौ रस
शरीर में रक्त की कमी होने पर जौ रस सेवन, जौ आटे की रोटी, हरी पत्तेदार सब्जी मात्र 15-20 खाने से शरीर में रक्त की कमी पूरी हो जाती है। जौ अनाज रक्त बढ़ाने का अच्छा माध्यम है।

वजन घटाये जौ रस 
जौ से बने पानी सेवन और जौ का आटा तेजी से वजन घटाने में सहायक है। वजन घटाने के लिए जौ से बने कई चीजें महंगे दामों में बाजार में मौजूद हैं। परन्तु घर पर खुद जौ अनाज कूट कर उबालकर यह अचूक औषधि बनाने का ज्यादा सस्ता और फायदेमंद है।

किड़नी स्टोन मिटाये जौ 
किड़नी मरीज के लिए जौ रस रामबाण दवा है। 200 ग्राम जौ दानों को कूट कर 3 लीटर पानी में 10 मिनट उबालें ठंडा होने पर छांन कर बोतल में सुरक्षित रख दें। जब भी पानी पीयें जौं रस वाला पानी पीयें। मात्र 25-30 दिनों में किड़नी स्टोन गलाने में सहायक है। हर तरह के किड़नी विकारों को दूर करने में जौ रस और जौ की रोटी फायदेमंद है।

लू-गर्मी से बचाये जौ रस
गर्मियों में जौ रस सेवन तीब्र गर्मी, लू लगने, तपेदिक जैसे विकारों से बचाने में सहायक है। तेज गर्मी पड़ने पर 500 ग्राम जो अनाज ओखली में कूट कर 3 लीटर पानी में उबाल लें। फिर फ्रिज में सुरक्षित रख दें। प्यास लगने पर 1 गिलास जौ पानी में आधा नींबू निचैंड कर पीने से गर्मियों में होने वाले गम्भीर बीमारियों विकारों से बचाने में सक्षम है।

डायबिटीज में जौ 
डायविटीज मरीज के लिए जौ का आटा औ जौ रस शुगर लेवल नियंत्रक है। जौ का रस और जौ के हरी पत्तियों का मिश्रण सेवन इंसुलिन की तरह काम करने में सहायक है।

गर्मियों में शीतल पेय
गर्मी मौसम में जौ रस का सेवन करना एक तरह से शरीर को अन्दर से शीतलता प्रदान करती है।

दिल विकार दूर करे जौ
जौ रस सेवन और जौ के आटे की रोटी खाना हार्ट मरीज के फायदेमंद है। जौ ब्लड को साफ करने में सहायक है। और साथ में कोलेस्ट्रॉल नियत्रंण में रखने में सहायक है। जौ अनाज हृदय घात से बचाने में सहायक है।

पेशाब जलन एवं मूत्र विकार में जौ 
जौ में बीटा ग्लूकेन गुण है। जिन लोगों को पेशाब जलन, मूत्र विकार रोग रहते हैं। उनके लिए जौ रस सेवन करना फायदेमंद है। जौ रस पीने से शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थ मूत्र के माध्यम से बाहर निकालने में सहायक है।

जोडो़ं गठिया दर्द में जौ 
जौ एक तरह से दर्द निवारण अनाज है। जौ एक तरह से इन्फ्लामेन्ट्री है। गठिया, जोड़ों के दर्द से निजात के लिए जौ रस और आटा सेवन करना फायदेमंद है।

त्वचा विकार ठीक करे जौ रस
त्वचा से सम्बन्धिक विकार, जैसे रक्त खराब होना, चेहरे पर लम्बे समय तक दाने रहना, फुसिंया रहना, इत्यादि त्वचा सम्बन्धिक विकारों में जौ रस फायदेमंद है। जौ रस सेवन रक्त में मौजूद विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में सहायक है। चेहरे पर कील दाने आने पर जौ का आटा चंदन के साथ लगाना फायेमंद है। जौ रस पीने से चेहरे पर नेचुरल ग्लो चमक बनाने में सहायक है।

बालों के लिए जौ 
बाल टूटने, झडने से रोकने के में जौ अनाज का पेस बालों पर लगाना फायदेमंद है। 10 ग्राम जौ का आटा आंवला रस के साथ मिश्रण कर बालों पर लगाने से बाल टूटना झड़ता रोकने में सहायक है। और बालों को नेचुरली काला, मजबूत बनाने का अच्छा तरीका है। जौ का रस बालों को टूटने झड़ने से बचाने सहायक है। और जौ आटा नींबू रस के साथ मिलाकर अनचाहे बालों का हटाने का सटीक तरीका है।

भुना जौ अस्थमा में 
प्राचीन लोग अस्थ्मा होने पर जौ दानों को तबे में भूनकर सूंघना थे। और भुने हुए जौ के दानों को देधी घी के साथ मिलाकर आग में जलाकर निकलने वाले धुऐं को सूंधना और मुहं से धुआं ग्रहण करना एक तरह से अस्थमा का सटीक ठीक करने का ईलाज था।