कैंसर निवारण अमृत औषधि Cancer Cure Amrit Aushadhi in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide कैंसर निवारण अमृत औषधि Cancer Cure Amrit Aushadhi in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

कैंसर निवारण अमृत औषधि Cancer Cure Amrit Aushadhi in Hindi

हर तरह के कैंसर को तेजी से सुधार लाने में गेहूं जवार और गिलोय मिश्रण कारगर अमृत संजीवनी औषधि है। गेहूं जवार और गिलोय से बनी औषधि सेवन से सफेद रक्त कोशिकाओं (WBCs) को बढ़ाने में सहायक हैं और रक्त तेजी से साफ करने में सक्षम है। गेहूं जवार - गिलोय रिच विटामिन ई, रेशे, सीलियम, क्लोरोफिल, पी.एच., एन्टीऑक्सीडेन्ट आदि गुणों तत्वों का रिच मिश्रण बन जाता है, जोकि कैंसर ग्रसित रक्त कोशिकाओं (WBCs) को ठीक करने में सहायक हैं। गेहूं जवार और गिलोय से बने रस औषधि कई दवाईयां कम्पनियां कैंसर रोधक दवा मिश्रण और अन्य रोगों की दवा के रूप में महंगे दामों में बेचती हैं। घर पर ही गमलों में गेहूं जवार और गिलोय बेल उगाई जा सकती है।
गेहूं जवार और गिलोय काढ़ा कैंसर निवारण के साथ-साथ कई तरह की घातक बीमारियों विकारों जैसे मधुमेह, गुर्दे रोग, हाईब्लडप्रेशर, पीलिया, हृदय घात, एनीमिया, गैस, कब्ज, दूर दृष्टि रोग इत्यादि समस्याओं को ठीक करने में सक्षम है। कैंसर जैसी घातक बीमारी के लिए गेहूं जवार-गिलाय एक तरह से नव जीवन दायक अमृत औषधि है। 25-30 दिनों तक अवश्य काढा सेवन कर देखें। कैंसर सुधार परिणाम पीड़ित को खुद महसूस होने लगगें। गेहूं जवार-गिलाय काढ़ा नुकसानदायक नहीं है, औषधि को स्वस्थ व्यक्ति भी 1-1 चम्मच रोज पी सकता है, और शरीर में पनपने वाली हर बीमारियों विकारों को जड़ से नष्ट करने में सहायक है। आर्युवेद में गेहूं जवारों गिलोय मिश्रण रस नव जीवन संजीवनी अमृत औषधि कहा जाता है।

कैंसर निवारण अमृत औषधि / सप्ताह के लिए कैंसर क्योर संजीवनी औषधि बनाने के लिए विधि एंव नेचुरल हर्बल  / CANCER CURE AMRIT AUSHADHI IN HINDI / CANER CURE REMEDIES 

कैंसर निवारण अमृत औषधि , Cancer Cure Amrit Aushadhi in Hindi, Cancer Aushadhi, कैंसर औषधि , कैंसर का इलाज़ औषधि , कैंसर की आयुर्वेदिक दवा, ayurvedic medicine for cancer, कैंसर के लिए रामबाण, Cancer amrit Aushadhi
+
हर्बल : गेहूं जवार और ताजी गिलोय 

स्टेप 1: हरी गेहूं जवारों को मिक्सी कर 1 गिलास रस छान कर निकालें।
स्टेप 2: ताजी गिलोय को बारीक कूटकर मिक्सी कर 1 गिलास रस छानकर निकालें।
स्टेप 3: गेहूं जवारों का रस और गिलोय का 5 मिनट तक चम्मच से अच्छे से घालें। फिर कांच की बड़ी बोतल में फ्रिज में रख दें।

औषधि सेवन विधि 
रोज सुबह खाली पेट 2 चम्मच औषधि रस सेवन करें। 45 मिनट के बाद ही कुछ खायें पीयें। दोपहर और रात के खाने से 30 मिनट पहले 2-2 चम्मच सेवन करें। यह खास गेहूं जवारों, गिलोय रस से तैयार की जाती है।