कमर दर्द कारण निवारण Back Pain Tips in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide कमर दर्द कारण निवारण Back Pain Tips in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

कमर दर्द कारण निवारण Back Pain Tips in Hindi

कमर दर्द की शिकायत आजकल अकसर बड़ों के साथ-साथ युवा वर्ग में भी पाई जा रही है। पीठ के नीचे हिस्से रीढ़ की हड्डी के साथ जकड़न, तेज दर्द होने से व्यक्ति अशाय लाचार महसूस करता है। अकसर कमर दर्द के पीछे़ व्यक्ति का दैनिक जीवन शैली, क्रिया-कलाप उठना बैठना और शरीरिक कमोजोरी एवं कैल्शियम कमी की वजह मुख्य रूप से कमर दर्द के कारण मानें जातें हैं। ज्यादात्तर कमर दर्द होने पर मेरूदण्ड-रीढ़ हड्डी का अंग्रेजी के एस, सी अक्षर की आकृति में अचानक हल्का मुड़ना माना जाता है। जोकि गलत जीवन शैली-क्रियाकलापों उठने बैठने की वजह है। कमर दर्द होने के कारण एवं ठीक करने के सटीक तरीके विस्तार से इस प्रकार से है।

कमर दर्द कारण निवारण / कमर दर्द दूर करने के लिए  उपाय / BACK PAIN TIPS IN HINDI / KAMAR DARD DUR KARNE / HABITS TO STOP BACK PAIN / BACK PAIN RELIEF TIPS

कमर दर्द कारण-निवारण, Back Pain Tips in Hindi, कमर दर्द के लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार, kamar dard thik karne ke upay, kamar dard dur karne ka tarika, कमर दर्द दूर करने के लिए  उपाय, Causes Of Back Pain, कमर दर्द दूर करना, kamar dard dur karna, back pain relief tips, Daily Habits To Stop Back Pain, Tips for Back Pain Relief

कमर दर्द होने के मुख्यतयः खास कारण निम्न प्रकार से हैं।
  • नसों मांसपेशियों में खिचाव एवं तनाव होने पर 
  • बैठने के गलत तरीका 
  • उठने का गलत तरीका
  • अचानक भारी वजन उठाना 
  • वजन उठाते वक्त मेरूदण्ड, रीढ़ की हड्डी का अचानक मुड़ जाना 
  • देर तक कुर्सी में बैठना 
  • गलत तरीके से सोना 
  • सोते समय आरामदायक शयन विस्तर का न होना 
  • व्यायाम योगा नहीं करना 
  • वाहन सीट पर पीठ के बल झुक कर बैठना
  • यात्रा के दौरान असुविधा अवस्था में बैठना 
  • टाईट फैशनेबल कपड़े, बेल्ट पहनना 
  • कम्प्यूटर पर काम करने वक्त सही तरह से नहीं बैठना 
  • लैपटॉप का इस्तेमाल तिरछा या लेट कर करना
  • पेट के बल मोबाईल, टेबलेट चलाना 
  • लेट कर टेलीविजन देखना 
  • गलत तरीके से बैठकर अखबार, पत्रिका, किताब पड़ना 
  • ऊंचे शूल एड़ी वाले सैंडल, जूते पहना भी कमर दर्द होने का कारण है 
  • शरीर के वजन-नियत्रंण-बेलेन्स अचानक बिगड़ना 
  • लम्बे वक्त तक शरीर रोग ग्रस्त रहना भी कमर दर्द का कारण होता है 
इस तरह से कमर दर्द होने के पीछे कई कारण होते हैं। जिसको ध्यान में रखे तो कमर दर्द होने पर आसानी से बचा जा सकता है।

कमर दर्द से तुरन्त राहत एवं तरीके :

कैल्श्यिम युक्त आहार
शरीरिक कमजोरी से होने वाले कमर दर्द में कैल्श्यिम युक्त आहार लें। हरी पत्तेदार सब्जियां, ताजे फल, फलों का रस, नट्स, सलाद खायें। अकसर शरीरिक कमजोर महिलाओं में कमर दर्द की शिकायत ज्यादा रहती है।

लटक कर परों को झटकाना 
लम्बे समय से कमर दर्द को शीघ्र ठीक करने के लिए पार्क में बने झूले, पाईपों को मजबूत से पकड़ कर 2-3 मिनट तक लटकें। लटकनें के दौरान पैरों को नीचे की ओर झटका दें। यह प्रक्रिया रोज सुबह शाम 5-10 मिनट करें।

पीठ, मेरूदण्ड-रीढ़ की हड्डी बेलेन्स नियंत्रण 
बैठते वक्त रीढ़ की हड्डी जिसे मेरूदण्ड से भी जाना जाता है। कमर को टेढ़ा, तिरछा, मुड़ाकर इत्यादि आकृति में उठे बैंठे नहीं। हमेशा पीठ सीधे कर ही बैठे, उठे, चले।

व्यायाम और योगा 
कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए मकरासन, हलासन, भुजंगासन, मयुरासन, चक्रासन अच्छा माध्यम है। योगा आसन जानकार एक्सपर्ट की रेखदेख सलाह में करें।

साइकिल और तैराकी 
कमर दर्द होने पर सुबह शाम साइकिल चलाने और स्वीमिंग करने से कमर दर्द से जल्दी छुटकारा मिलता है। साइकिलिंग और स्वीमिंग करना शरीर की मांसपेशियों के खिचाव को दुरूस्त करने का अच्छा माध्यम है।

मसाज 
कमर दर्द होने पर पेट के बल लेटकर 10-15 मिनट मसाज से मेरूदण्ड जकड़न, नसों मांसपेशियों खिचाव एवं तनाव को आसानी से ठीक किया जा सकता है।

फैशन एवं कपड़ा पहनाव 
आधुनिक फैशन में कपड़ों का तंग टाईट कपड़े, ऊंची एडियों वाले सैंडल जूते पहनना भी कमर दर्द का एक कारण माना गया है। कमर दर्द के दौरान टाईट कपड़े सैंडल जूते ना पहले, आरामदायक ठीलें कपड़े सैंडल जूते पहने। हमेशा आरामदायक कपड़ें सैंडल जूते पहने। ज्यादा फैशनेबल ना बनें।

बैठने की मुद्रा 
कम्प्यूटर, लैपटॉप इस्तेमाल करते समय, वाहन सीट, ऑफिस में काम करते समय सीधे बैठ कर बैंठें। शरीर की आकृति मुद्रा हमेश समकोण की आकृति में रखें। लगातार देर तक बैठकर काम न करें। सही मुद्रा में बैठने से मस्तिष्क, शरीर स्वस्थ रहता है। और साथ में व्यक्तित्व परर्सनालिटी लुक दिखता है। लोअर बैक पैन की वजह काफी हद तक उठना, बैठना, शारीरिक मुद्रा भी एक कारण माना जाता है।