डायलिसिस रोके आर्युवेदिक संजीवनी दवा Avoid Dialysis Naturally in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide डायलिसिस रोके आर्युवेदिक संजीवनी दवा Avoid Dialysis Naturally in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

डायलिसिस रोके आर्युवेदिक संजीवनी दवा Avoid Dialysis Naturally in Hindi

किड़नी कैंसर जैसी भयानक बीमारियों में आर्युवेद ईलाज ठीक करने में सक्षम है। शरीर में दो तरह का रक्त कण होता हैं। एक लाल रक्त कण और दूसरा सफेद रक्त कण । सफेद रक्त रक्षा कवच बनाने में अहम है। डायलिसिस द्धारा खून के प्लेटस हीमोग्लोविन की मात्रा विकसित की जाती है। जिसे कि डायलिसिस के माध्यम से और आर्युवेदिक ईलाज से बढ़ाया, समान्तर किया जा सकता है। कैंसर दवाईयों के साथ - साथ आर्युवेदिक औषधि सेवन करके अवश्य देखें। डायलिसिस रोकने में यह खास आर्युवेदिक संजीवनी दवा है।

डायलिसिस रोके आर्युवेदिक संजीवनी दवा / Avoid Dialysis Naturally in Hindi / Dialysis Rokne ki Aushadhi / Stop Dialysis by Home Remedies

डायलिसिस रोके आर्युवेदिक संजीवनी दवा,  Avoid Dialysis Naturally in Hindi, डायलिसिस आयुर्वेदिक संजीवनी , dialysis ayurvedic sanjeevani , dialysis rokne ki aushadhi, डायलिसिस रोकने की औषधि, top dialysis by home remedies

डायलिसिस औषधि सामग्री

  • 100 ग्राम हरी गेहू घास, गेहूं के छोटे छोटे कोमल पौधे
  • 100 ग्राम कच्ची हरी गिलोय
  • 2-3 हरी नींम पत्ती
  • 1 चम्मच अदरक रस 

डायलिसिस औषधि सेवन विधि

हरी गेहूं घास रस, गिलोय, अदरक रस, हरी नींम पत्ती का मिश्रण रोज सुबह उठकर खाली पेट और रात को सोने से 20 मिनट पहले आधा आधा कप लगातार पीने से डायलिसिस रूक जाती है। किड़नी और कैंसर घातक स्थिति में बार बार डायलिसिस करवानी पड़ती है। दवाईयों के साथ यह आर्युवेदिक मिश्रण पेय जरूर पीयें। असर परिणाम पीड़ित व्यक्ति को खुद पता चल जायेगें। यह खास अचूक औषधि डायलिसिस रोकथाम में सहायक है।