पपीता अनमोल अमृत औषधि Papaya Benefits in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide पपीता अनमोल अमृत औषधि Papaya Benefits in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

पपीता अनमोल अमृत औषधि Papaya Benefits in Hindi

पपीता खाने में स्वादिष्ट और पौष्टिक गुणों से भरपूर है। अकसर डाॅक्टर बीमारी के दौरान मरीज को पपीता खाने की सलाह देते हैं। वास्तव में पपीता बहुत ही पौष्टिक फल श्रेणी में आता है। पपीता पेट से सम्बन्धि और त्वचा विकारों को ठीक करने, पपीता फेस पैक, पपीता अनचाहे बालों को निकालने में सहायक है। पपीता जितना स्वास्थयवर्धक है, उससे सैकड़ों गुण ज्यादा फायदेमंद पपीता का बीज भी है। पपीता फल और बीज के पौष्टिकता और औषधीय गुणों के कारण पतीता को प्राकृतिक अमृत भी कहा जाता है। पपीता और पपीता बीज के बारे में विस्तार से बता रहे हैं, जो व्यक्ति पपीता नहीं खाता, वो भी पपीता खाना शुरू कर देगा। 
पपीते में विटामिन ए, विटामिन बी, प्रोटीन, प्रोटियोलिटिक इन्जाइम्स, कैलोरी, आइरन, पपेइन, फाइबर, फालिक एसिड, पोटाशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम तत्व गुण पाये जाते हैं।

पपीता अनमोल अमृत औषधि / पपीता के फायदे / papita ke fayde / Papaya Benefits in Hindi / Papita ke Aushadhiya Gun

पपीता -अनमोल -अमृत- औषधि, Papaya- Benefits- in- Hindi, Papaya- Health- Benefits, Papaya- fruit, papita- ke- labh, पपीता - के - फायदे,  papita-ke-fayde

डायबिटीज में पपीता
डायबिटीज पीड़ित व्यक्ति के लिए पपीता इन्सुलिन का काम करता है। पपीता शुगर लेवल को नियत्रण करने में सक्षम है। स्वस्थ व्यक्ति पपीता सेवन करे तो डायबिटीज होने की सम्भावना नहीं के बराबर रहती है।

फोड़े फुंसी, एलर्जी में पपीता 
त्वचा से सम्बन्धित समस्त विकारों को मिटाने में पपीता बीज खास है। पपीते बीज को बीज को पीस का ग्रसित त्वचा पर लगायें। और 1 चम्मच पपीता बीज को पीसकर 1 गिलास पानी के साथ सेवन करें। त्वचा विकार शीघ्र ठीक हो जाते हैं। पपीता बीज पाउडर फोड़े, फुंसी, त्वचा विकार, बालतोड़, मिटाने में सहायक है।

आंखों की रोशनी के लिए पपीता 
पपीता में विटामिन ए, प्रोटीन, प्रोटियोलिटिक इन्जाइम्स और केलारी प्रचुर मात्रा में मौजूद है। कच्चा पपीता आंखों की रोशनी बढ़ाने में अति सक्षम है। अकसर डाॅक्टर आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए पपीता और गाजर खाने की सलाह देते हैं। पपीता आंखों के लिए उत्तम माना जाता है।

किड़नी पथरी घटाये पपीता 
किड़नी में पथरी होने पर रोज पपीता खायें और पपीते का बीज पीसकर रोज सुबह शाम गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। पपीता बीज किड़नी पथरी में रामबाण दवा का काम करता है। 

कैंसर दूर करे पपीता
कैंसर पीड़ित व्यक्ति के लिए पपीता खाना स्वास्थ्यवर्धक है। और पपीते का बीज सुखाकर, पीसकर पाउडर बनाकर रख लें। रोज आधा चम्मच बीज 1 गिलास पानी के साथ सेवन करने से कैंसर में सुधार होता है।

पाचन दुरूस्थ करे पपीता
जिन लोगों को गैस कब्ज पाचन की समस्या रही है, वें रोज पपीता खायें और पपीता बीज सुखाकर पीसकर अजावइन के साथ मिलाकर सेवन करें। पपीता बीज और अजवाइन गैस, कब्ज, पाचन दुरूस्त करने में सक्षम है। पाचन सम्बन्धित विकारों को दुरूस्त करने में सक्षम है।

सौन्दर्य निखारे पतीता फेस पैक 
त्वचा से दाग, धब्बे मिटाने में पतीता फेस पैक सहायक है। पपीता ब्यूटी फेस पैक त्वचा विकार मिटाने के साथ साथ त्वचा से झुर्रियां मिटाने में सक्षम है।

पाईल्स में पतीता औषधि रूप
पाईल्स होने पर नित्य पका पतीता खाना फायदेमंद है। पके पपीते में दालचीनी पाउडर लगाकर खाने से जल्दी फायदा होता है।

वजन घटाने में सहायक पपीता
जो लोग वजन घटाने के लिए डाईटिंग करते हैं, उनके लिए पका पतीता, और कच्चा पपीता डाईट में शामिल करना फायदेमंद है। पतीता वजन घटाने में सहायक है।

पीलिया होने पर पपीता सेवन 
पीलिया रोगी के लिए पतीता खाना और पपीते के ताजे हरे पत्तों का रस सेवन करना फायदेमंद है। पतीता तेजी से पीलिया घटाने में सहायक है। 

दांतों के लिए पतीता 
दांतों से खून आना, दांत मसूड़ों में दर्द रहने पर नित्य पपीता सेवन फायदेमंद है।

बुखार में पपीता अचूक औषधि रूप
चिकनगुनिया, डाइफाईड, डेंगू - मलेरिया बुखार में ब्लड प्लेटस सेल्स कम होने से बचाने में पका पतीता खाना और Papaya Leaf Juice / पपीते के पत्तों रस पीना फायदेमंद है। पपीता हर तरह के बुखार में ब्लड सेल्स सुधार करने में सक्षम है।

पपीता सेवन विधि 
  • पपीता खाने के बाद तुरन्त पानी न पीयें। 
  • पपीता बीज धूप में सुखाकर पीसकर पाउडर बनाकर कांच की शीशी में रख लें। कच्चा पपीता बीज इस्तेमाल में नहीं लायें। 
  • पपीता बीज बच्चों के लिए नहीं है। 
  • पपीता बीज गर्भवती महिलाओं के लिए मना है। पपीता बीज सेवन गर्भपात करा सकता है।