गोखरू हर्बल के अचूक औषधीय गुण / GOKHRU HEALTH BENEFITS AND SIDE EFFECTS IN HINDI, GOKHRU MEDICINAL USES IN HINDI

Gokhru in Hindi, Gokhru Benefits / गोखरू का पौधा मैदानी, पहाड़ी शुष्क, गर्म, नदी किनारे, सड़कों के किनारे, रेतीली जगहों पर पाई जाती है। गोखरू दिखने में चने के पौधे की तरह पत्तियां दिखती है। और फूल पीले रंग में कांटेदार होते हैं। गोखरू फल भी कांटों के मध्य होता है। गोखरू दो तरह से होते हैं। छोटा गोखरू फल और जड़ दोनों ही अचूक दवा का काम करती है। गोखरू स्वाद में हल्का मीठा और चिपचिपा लगता है।

गोखरू का भारत में सभी राज्यों में कई नामों से जाना जाता है। कोई क्षुरक, गोक्षुर, पल्लेरू काया, भखरा, स्वादुकंटक, गोखरू, त्रिन्कटक, सराते, नेरींजील, गोखयूरा, गुखुरा, पखड़ा, नेगगिलु, बेतागोखारू, चोटा, गोक्शूरा, अंग्रजी में Caltrops fruit, Small Caltrops, Land Caltrops कहते हैं। गोखरू आर्युवेद में बहु उपयोगी औषधि है। गोखरू पंसारी दुकान पर या फिर जंगल, सड़के किनारे, रेतीजी जगहों, बंजर जगहों मिल जाती है।
gokhru-health-benefits-and-side-effects-in-hindi
गोखरू रामबाण दवा / Gokhru Medicinal Benefits

किड़नी विकृति को तुरन्त ठीक करे गोखरू / Gokhru, Good for Kidney
किड़नी रोग ठीक करने में गोखरू सक्षम है। Kidney Dialysis / किड़नी डायलिसिस और किड़नी ट्रांसप्‍लांट / Kidney Transplant जैसे गम्भीर किड़नी समस्या से छुटकारा दिलाने में गोखरू सफल आर्युवेदिक दवा है। किड़नी विकृति में तेजी से सुधार करने में सक्षम है। जिन लोगों की किड़नी से कोई भी समस्या हैं वे गोखरू का काढ़ा और जड़ जरूर सेवन करें। 30-40 दिनों के अन्तराल में गोखरू अपना जादूई असर से किड़नी विकार मिटाने में सक्षम है।

नपुसकता दूर करने में अचूक दवा है गोखरू / Gokhru, Good for Libido
वीर्य में कमी, शीध्रपतन, नपुसकता दूर करने में Gokhru Seeds, Powder /गोखरू बीज पाउडर आधा चम्मच और अश्वगंधा चुटकी भर एक गिलास दूध के साथ रोज सेवन करने से वीर्य शुक्राणुओं की समस्या / Sperm Problems से निदान में सहायक है।

पेशाब से सम्बन्धित विकारों को दूर करे गोखरू / Gokhru, Good for UTI
Urinary Tract Infection / पेशाब में जलन, पेशाब रूकना, मूत्रघात, सूजन इत्यादि होने पर गोखरू का काढ़ा पीने से शीध्र आराम मिलता है। मूत्र विकारों को जड़ से मिटाने में गोखरू काढ़ा सक्षम है।

पुरानी खांसी ठीक करे गोखरू / Gokhru, Chronic Cough Remedies
पुरानी से पुरानी खांसी / Chronic Cough ठीक करने के लिए 50 ग्राम गोखरू उबाल कर रख दें। सुबह शाम गोखरू 1-1 कप गोखरू पेय में 1 चम्मच अदरक पाउडर मिलाकर पीने से हर तरह की खांसी से छुटकारा मिलता है।

गोखरू काढ़ा बनाने की विधि / Gokharu Kadha
400 गोखरू को 3 लीटर पानी में हल्की आंच पर 30 मिनट तक उबालें। ठंड़ा होने पर छान कर साफ कांच के शीशी में रख लें। रोज प्रात खाली पेट और रात के खाने से 1 घण्टे पूर्व 1-1 कप gokhru kadha / गोखरू काढ़ा पीयें। आर्युवेदिक गोखरू काढ़ा पीने के 1 घण्टे बाद ही कुछ खायें पीयें।

नोट:
  • गोखरू गर्भवती महिलाओं के लिए मना है।
  • गोखरू सेवन 8 साल से छोटे बच्चों के लिए मना है।