त्रिकोणासन रखे दुरूस्त मांसपेशियां, पाचन, वजन Trikonasana Benefits in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide त्रिकोणासन रखे दुरूस्त मांसपेशियां, पाचन, वजन Trikonasana Benefits in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

त्रिकोणासन रखे दुरूस्त मांसपेशियां, पाचन, वजन Trikonasana Benefits in Hindi

त्रिकोणासन एक तरह का त्रिकोण की तरह किया जाने वाला आसन है। त्रिकोणासन शरीर से कई तरह से फायदे पहुंचाता है। परन्तु खासकर तीन तरह से त्रिकोणासन अहम माना जाता है। त्रिकोणासन स्वस्थ शरीर और स्वस्थ मन के लिए खास योगा आसन है।

त्रिकोणासन योग / Trikonasana Yoga 

त्रिकोणासन- रखे- दुरूस्त- मांसपेशियां- पाचन- वजन,  Trikonasana- Benefits- in-Hindi, Trikonasana, Triangle Pose

त्रिकोणासन करने से लाभ 
  • त्रिकोणासन से कमर एंव कूल्हे पर फालतू जमी चर्बी को हटाने में सक्षम है।
  • मांसपेशियों को मजबूत बनाने और लचीलापन करने में त्रिकोणासन करने से खास फायदा है। जिन लोगों की मांसपेशियों में खिचाव की समस्या रहती है। उनके लिए त्रिकोणासन बरदान साबित है।
  • पाचन शक्ति बढ़ाने में त्रिकोणासन सक्षम है। गैस कब्ज जैसे समस्याओं से निजात के लिए त्रिकोणासन लाभदायक है।
  • त्रिकोणासन मन की एकाग्रता और शान्ति प्रदान करता है।

त्रिकोणासन करने का तरीका

  • सीधे खड़े हो जायें। फिर दोनों पैरों के मध्य 3 फीट का अन्तर रखें।
  • अब दहिनें पंजे को दहिने हाथ से धीरे धीरे झुक कर छुने का प्रयास करें।
  • बांया हाथ आकश की तरफ 90 डिग्री कोण की तरह बनायें।
  • 20 सकेंड तक स्थिर रहें। फिर सीधे खड़े हो जाईयें।
  • फिर अब बायें पंजे को बायें हाथ से धीरे धीरे झुक कर छुने का प्रयास करें। जिस तरह से दहिने की ओर से किया था। इस प्रक्रिया को बदल बदल कर, रूक कर करें। रोज सुबह शाम 10 मिनट त्रिकोणासन करें।
नोट: त्रिकोणासन सर्जरी, डिक्स, गम्भीर बीमारी में न करें। त्रिकोणासन मांसपेशियां, पाचन और वजन नियंत्रण करने का अहम योगा है। त्रिकोणासन चिकित्सक सुझाव पर ही करें।