दमबेल काली मिर्च अस्थमा के लिए अचूक औषधि Dambel Dambooti for Asthma in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide दमबेल काली मिर्च अस्थमा के लिए अचूक औषधि Dambel Dambooti for Asthma in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

दमबेल काली मिर्च अस्थमा के लिए अचूक औषधि Dambel Dambooti for Asthma in Hindi

प्राचीन वैद्य व शोध में दमबेल और काली मिर्च अस्थमा के लिए रामबाण दवा मानी जाती है। सालों पुराना अस्थमा ठीक करने में दमबेल कारगर सिद्व है। दमवेल यानी कि दमा निवारण बेल। दमबेल भारत के पर्वतीय क्षेत्रों में असर ज्यादा पाई जाती है। जिसे आसानी से खोजा जा सकता है। दमबेल को अंग्रेजी में (Tylophora Indica) के नाम से जाना जाता है। कोई दमबूटी से पुकारते हैं। जोकि दमा के लिए अचूक औषधि का काम करती है। दमबेल सीमित मात्रा में सेवन करें। अस्थाम होने पर आयुवर्ग अनुसार 18 वर्ष से छोटे बच्चों को आधा पत्ता दमबेल और बड़ों को 1 पत्ता एक बार में सेवन करें। दमबेल और काली मिर्च अस्थमा के लिए रामबाण दवा है।

दमबेल और काली मिर्च अस्थमा औषधि / Dambel and Kali Mirch Asthma Remedy

दमबेल- काली- मिर्च- अस्थमा- के- लिए- अचूक औषधि, Dambel-Dambooti-for-Asthma-in-Hindi,

दमबेल सेवन

एक दमबेल पत्ते के अन्दर एक काली मिर्च कूट कर रखें। फिर दमबेल को मसल कर जबड़े दांतों से धीरे धीरे चबाते रहें। दमबेल काली मिर्च चबाने से उल्टी होगी। उल्टी आने से जमा कफ उल्टी के साथ बाहर आ जाता है। यह प्रक्रिया रोज लगातार 4-5 दिन सुबह बिना कुछ खाये पीये करें। इससे अस्थमा पीड़ित व्यक्ति को खुद ही असर महसूस हो जायेगा। इसी तरह से लगातार 10 दिन दमबेल कालमिर्च बचाकर कफ उल्टी से बाहर निकालें। 10 दिनों के बाद दमबेल सेवन बन्द कर दें।


दमबेल चूर्ण विधि

लगभग 300 ग्राम दमबेल के हरे पत्तों को सुखाकर चूर्ण बना लें, दमबेल पत्तों के चूर्ण आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर अच्छे से मिलाकर कांच की शीशी में रख दें।
रोज सुबह शाम चुटकी भर दमबेल चूर्ण को 1 चम्मच शहद के साथ सेवन करें। अस्थमा पीड़ित व्यक्ति के लिए यह खास औषधि है। कफ, बलगम, गला इंफेक्शन, फेफड़े जकड़न समस्याओं से धीरे-धीरे छुटकारा दिलाने में दमबेल सहायक है।

दमबेल सेवन खान पान, परहेज

  • खट्टी चीजों से परहेज
  • तली भुनी चीजों से परहेज
  • तेल, घी, से परहेज
  • दही, दूध, ठंडे चीजों से परहेज
  • रोज गर्म गुन गुना पानी पीयें।
  • धूम्रपान, शराब, गुटका, तम्बाकू, नशीले पदार्थों से परहेज करें।
  • कैमिक्ल गंध, गैस, धुआं, दूषित वायु, इत्र आदि से परहेज करें। 
दमबेल अस्थमा के लिए अचूक इलाज है। दमबेल सेवन के दौरान उपरोक्त बताई गई बातों पर ध्यान दें तो दमा से छुटकारा सम्भव है। दमबेल अस्थमा मिटाने में सक्षम है।