एसिडिटी से बचने के कुछ खास नियम Acidity Prevent Rules in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide एसिडिटी से बचने के कुछ खास नियम Acidity Prevent Rules in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

एसिडिटी से बचने के कुछ खास नियम Acidity Prevent Rules in Hindi

गैस एसिडिटी से पेट में अन्दर ही अंन्दर तीव्र जलन और वायु की समस्या हो जाती है। पेट सम्बन्धित समस्याओं के लिए खान पान अनिमियता माना जाता है। समय पर भोजन न करना, पूरी नींद न लेना, तीखा मसालेदार व्यंजन पकवान खाना, अनियमित वक्त पर खाना। डाइट चार्ट के बिना खाना। जैसे कई कारण से गैस, एसिडिटी, कब्ज होती है।

गैस, एसिडिटी से बचने के खास जरूरी बातें / Gas, Acidity, Prevention Tips / Gas Acidity Kabj se bachne ke upay

Acidity-Prevent-Rules-in-Hindi, Acidity-Prevent-in-Hindi, acidity- se- bachne- ke- upay,
  • प्रातःकाल उठकर एक गिलास नींबू पानी पीयें। उपरांत लहसुन की 3-4 कलियां सेवन करें।
  • खाने का डाइट चार्ट तैयार कर लें, डाइट चार्ट के हिसाब से खायें। स्वादिष्ट, मनपसन्द खाना पेट भर कर नहीं खायें। भूख से कम लगभग 70 प्रतिशत खायें।
  • ब्रेकफास्ट, लंच, डिनर का एक समय सीमा बना लें। खाने की समय सारणी बना लें। हमेशा नियमित वक्त पर ही खायें।
  • एसिडिटी से बचने के लिए नारियल का पानी जरूर पीयें।
  • बाजार में मौजूद ठंड़ा पेय, जंकफूड, तली भुने पकवान, मीठा खाने से बचें। सोड़ा पेय और जंकफूड पाचन तंत्र को खराब करता है। सही तरह से नहीं पचता और गैस समस्या धीरे-धीरे आसानी से बनने लगती है।
  • सादा सात्विक भोजन करें, ज्यादा तीखा चटक, मसालेदार खाने से बचें।
  • एक चम्मच अजाइन दूध के साथ सेवन करें। अजवाइन, लहसुन, अदरक, मेथी दाने, नींबू पानी नियमित सेवन करें।
  • रात के खाने के बाद फिर दुबारा न खायें। शाम को कार्यालय, बाहर से आने पर खाना न खायें। रात को सीधे डिनर करें।
  • रात्रि भोजन सीमित मात्रा में खायें। पेटभर कर नहीं खायें। पेटभर कर खाने से गैस एसिडिटी की समस्या ज्यादा बढ़ती है।
  • रोज डाईट में हरी सब्जियां, सलाद, फल, ड्राइफ्रूट्स, नींबू, दही, खीरा, पुदीना शामिल करें।
  • अनार और पाईनएपल मिश्रण रस पीयें।
  • अदरक सौंठ, पाउडर का इस्तेमाल गैस जलन घटाने के लिए करें।
  • लार ग्रन्थि सुचारू के लिए च्विंगम, हजमोला गोली चबायें और चूसें।
  • बीयर, शराब न पीयें, सोड़ा वालें चीजों से परहेज करें।
  • खाना भूख से कम खायें। पेट भर कर न खायें। खाने के तुरन्त बाद चाय, पेय इत्यादि सेवन न करें।
  • चावल, आलू के पराठें, अन्य रूप से आलू व्यजंन, तली भुनी चीजें खाना बन्द कर दें।
  • भोजन सीमित मात्रा में खायें। भूख से 20 प्रतिशत तक कम खायें।
  • एक चम्मच ताजे नींम पत्तों का रस एक गिलास गुनगनु पानी के साथ रोज सुबह खाली पेट या सोने से 15-20 मिनट पहले पीयें।
  • रात्रि भोजन में चावल, आलू, तली चीजें खाने से परहेज करें।
  • नित्य सुबह - शाम शोच करें। पेट साफ रखें। पेट साफ नहीं रहना भी गैस एसिडिटी का एक कारण होता है।