हल्दी के फायदे Turmeric Benefit in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide हल्दी के फायदे Turmeric Benefit in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

हल्दी के फायदे Turmeric Benefit in Hindi

हल्दी मांगलिक शुभ कार्यों में शामिल से लेकर, स्वादिष्ट पकान बनने में हल्दी का इस्तेमाल महत्वपूर्ण खास स्थान है। हल्दी खाने में उपयोग के साथ-साथ अपने आप में एक अति गुणकारी आर्युवेदिक दवा रूप भी है। जरूरत है तो इतना कि हल्दी को सही तरह से कैसे उपयोग करें और हल्दी के गुणों को पहचाने और ज्यादा से ज्यादा फायदा ले। हल्दी को हेल्दी नाम से भी पुकारा जाता है।

हल्दी में एन्टीआक्सीडेन्ट, माइक्रोबियल एन्टीबायोटिक, अमीनो एसिड, लिपोपोलिसेकराईड, एन्टी फन्गल, एन्टी बैक्टीरियल, करक्यूमिन, लाभदायक गुण पाये जाते हैं।
 
हल्दी त्वचा के लिए खास गुणकारी, और रक्त साफ करने से लेकर सैकड़ों तरह से प्रयोग की जाती है। हल्दी से कई तरह की दवाईयां, क्रीम, लोशन बनाये जाते हैं। जानिए हल्दी को इस्तेमाल के फायदों के बारे में विस्तार पूर्वक और हल्दी से होने वाले वाले खास फायदे। 

हल्दी का बहुउपयोगी इस्तेमाल, होने वाले फायदे प्राचीनकाल से ही हिन्दू संस्कृति और आधुनिक विज्ञान शोध में सत्य साबित हो रही है। हल्दी पर हर रोज नये नये शोध प्रकाशित हो रहे हैं। हल्दी किसी चमत्कारी औषधि से कम नहीं है।

हल्दी के फायदे  / Turmeric Benefit in Hindi / Haldi ke Fayde / Haldi ke Aushadhi Gun

हल्दी के चमत्कारी गुण ,Turmeric Benefit, हल्दी से फायदे, हल्दी के औषधीय गुण, haldi ke fayde, haldi ke aushadhiya gun, haldi ayurvedic medicine, haldi ayurvedic dawa, haldi ke istemal, हल्दी के उपयोग , haldi ke upyog, turmeric health benefits, Haldi, Turmeric, हल्दी, healthy haldi

  • चोट लगने पर, एक्सीडेन्ट या अन्दरूरी चोट लगने पर हल्दी और कच्चे दूध एक सप्ताह तक लगातार तीनों वक्त पीने पर तुरन्त जख्मों व दर्द से आराम मिलता है। और शरीर चोट जगह पर इन्फेक्शन होने से बचाता है। हल्दी अति गुणकारी है।
  • चेहरे पर पिम्पलस दाने होने पर चन्दन - हल्दी को दूध में अच्छी तरह से मिलाकर चेहरे पर 25-30 मिनट तक लेप लगाने से चेहरे पर नेचुरल चमक व मुलायम हो जाता है। आपने देखा होगा ब्यूटी संसाधनों में हल्दी चन्दन से बने कई लोशन, क्रीम, पाउडर उपलब्ध होते हैं, परन्तु उन सबसे अच्छा असरदार - सुरक्षित घर पर तैयार हल्दी फेस पैक है, हल्दी पैक कई तरह से बनाये और इस्तेमाल किये जाते हैं।
  • हल्दी पाउडर और बेसन का पेस्ट बना कर सुखाने रख दें, ठोस होने पर साबुन की तरह आकार बनाकर रख लें। और नहाते समय इस्तेमाल करें। नहाते समय कोहनी, डार्क स्पाट जगह, उगलियां, ऐडियों पर रगड़े, इससे त्वचा नरम व मुलायम होती है।
  • इससे चेहरे पर उगे बालों आसानी से निकल जाते हैं और शरीर पर अनचाह बालों से 2-3 महीनों में आराम छुटकारा मिलता है। और कोई साईट इफेक्ट भी नहीं होते।
  • हल्दी पाउडर को नींबू रस के साथ मिलाकर त्वचा व चेहरे पर लगाने से त्वचा से दाग धब्बे, डार्क स्पाट साफ हो जाते हैं। त्वचा पहले से ज्यादा चमकदार बनती है और त्वचा पर बने मुहांसों के गडढे आसानी से भर जाते हैं।

  • शरीर अंग अचानक गलती से आग में जलने पर हल्दी पाउडर व ऐलोवेरा मिलाकर पेस्ट लगाने से जलन से तुरन्त आराम मिलता है और त्वचा जलने पर दाग मिटाने में हल्दी उत्तम माना जाता है। हल्दी से दाग मिटाने के लिए कई स्किन केयर प्रसाधन बनाये जाते हैं।
  • दांतो सेन्शटिव - दर्द होने पर हल्दी, सेंधा नमक व बादाम तेल का पेस्ट रोज सुबह शाम करने से दांतों की दर्द समस्या से छुटकारा मिलता है। हल्दी बैक्टीरियर वायरल संक्रमण रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है। हल्दी दांतों के लिए खास सुरक्षा कवच तैयार करने में सहायक है।
  • भूख न लगना, सुस्सी महसूस करने पर, हल्दी और शहद को दूध के साथ पीने से समस्या से छुटकारा मिलता है, और हल्दी और शहद को दूध के साथ पीने से शरीर में रक्त बनाने में मद्दगार है। और शरीर चुस्त फुर्तीला रहता है।

  • हल्दी में माइरक्रोबियल एन्टीबायोटिक गुण पाये जाते है जोकि ब्रोकाइटिस, कफ, साइनस, फेफेड़ो की तकलीफ जैसी भयानक बीमारियों से छुटकारा दिलाने में अहम भूमिका निभाता है।
  • हल्दी को दूध में मिलाकर पीने से नींद कम आने की समस्या से छुटकारा मिलता है, क्योंकि हल्दी में अमीनो एसिड गुण होते हैं और नींद समस्या के साथ गठिया घुटनों - दर्द में तुरन्त छुटकारा दिलाता है।
  • हल्दी दूध के मिश्रण में कैल्शियम, एन्टीआक्सीडेन्ट गुण होने के वजह से हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायक है। साथ में मांसपेशियों के दर्द व लिवर समस्याओं से छुटकारा दिलाता है।
हल्दी सेवन शरीर - त्चचा दोनों के लिए अति उत्तम गुणकारी औषधि रूप है। हल्दी दूध, हल्दी लेप, हल्दी किंचन में इस्तेमाल - सेवन समय - समय पर जरूर करना चाहिए। हल्दी एक महाऔषधि है।