एक शौध में पाया गया है कि चीनी मीठा ज्यादा खाना शरीर व मस्तिष्क के लिए हानिकारक हो सकता है। ज्यादा चीनी न्यूरोन्स के विकास के लिए न्यूरोड जीन को प्रभावित करती है। मीठा ज्यादा खाना रोगों को निमन्त्रण देने के समान है। न्यू वेल्स अनुसंधान में नये शौध में पाया गया है कि चीनी मीठा ज्यादा खाने से याददाश्त कमजोर होती है। ज्यादा मीठा चीनी मस्तिष्क की कोशिकाओं पर सीधे असर करती है। जोकि दिमाग को कमजोर करती है। चीनी मस्तिष्क के अहम हिस्सों को कमजोर कर याददाश्त व तनाव का कारण हो सकती है।

चीनी मीठा ज्यादा खाना घातक है मस्तिष्क याददाश्त के लिए / Sugar Brain Damage in Hindi / Chini ke Dimag par Prabhav

चीनी- मीठा- ज्यादा- खाना- घातक- है- मस्तिष्क- याददाश्त- के- लिए , Sugar- Brain- Damage- in- Hindi, Sugar Damage to Brain, excess sugar is harmful for brain , How sugar may damage the brain

चूहों के ब्रेन के अध्ययन अनुसान शोध चूहों के तीन समूह पर 15 दिनों तक अध्ययन किया गया। एक समूह के चूहे को चीनी अत्यधिक मात्रा में खिलाई गई, दूसरे समूह के चूहों को चीनी, सामान्य मात्रा में खिलाई गई व तीसरे समूह के चूहों को चीनी नहीं खिलाई गई। तीसरे समूह के चूहे आजाद व खुले महौल में रहे। तदपश्चात तीनों समूह के चूहों पर अनुसंधान द्वारा बारीक से अध्ययन किया गया।

रिजल्ट: पहला समूह के चूहों का दिमाग मस्तिष्क की कोशिकायें कमजोर व दिमाग सुस्त पाया गया। दूसरे समूह के चूहों का मस्तिष्क कोशिकायें व दिमाग सामान्य से नीचे शोध में पाया गया। जबकि तीसरे समूह के चूहों का मस्तिष्क दिमाग चतुर व पहले के तरह अध्ययन में पाया गया।

ज्यादा चीनी न्यूरोन्स के विकास के लिए न्यूरोड जीन सीधे मस्तिष्क कोशिकाओं / Brain Cells को प्रभावित करती है। जोकि याददाश्त व दिमाग कमजोर बनाती है।

चीनी मीठा ज्यादा खाने से डायबिटीज, खाज, खुजली, फंसियां, पिंपल्स, पाचन तत्रं, आन्तरिक प्रणाली, त्वचा में खराबी आसानी से आ सकती है। जैसे जैसे मीठे का चलन ज्यादा बढ़ा बीमारियां भी ज्यादा बढ़ी। मिठाईयों, चोटलेट, कोल्ड ड्रिक से बठिया ताजा फलों का रस व सलास हजार गुना स्वास्थवर्धक हेल्दी है।