सरदर्द के प्रकार Headache Pain Types in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide सरदर्द के प्रकार Headache Pain Types in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

सरदर्द के प्रकार Headache Pain Types in Hindi

आपने अकसर देखा होगा बहुत से लोगों को सिर में दर्द की शिकायत रहती है। सरदर्द से आराम के लिए वे कई तरह के पेनकिलर जैसे घातक दवाईया लेते हैं। सरदर्द होने की स्थिति में पेनकिलर जैसे हानिकारक दवाईयां सेवन से बचाना चाहिए। पेनकिलर दवाईयां सीधे असर ब्रेन पर करती हैं। जिससे सरदर्द ठीक नहीं करती। पेनकिलर दवाईयां सेवन से मस्तिष्क कमजोर, याददाश्त कमजोर, दिल और किड़नी समस्याऐं होने की ज्यादा सम्भावनाऐं रहती हैं। सरदर्द भी कई तरह के होते हैं। इन तरीकों से अलग-अलग तरह के सरदर्द से तुरन्त छुटकारा पाया जा सकता है।

सरदर्द के कारण और विस्तृत जानकारी / सरदर्द के प्रकार / Headache Pain Types in Hindi / Sar Dard ke Prakar / Headache Pain

सरदर्द के प्रकार, Headache Pain Types in Hindi, Types Of Headaches, What are the different types of headaches?,  sar dard kitne tarah ka hota hai, कई किस्म के होते हैं सिरदर्द, headache types, headache classification

माईग्रेन सिरदर्द

कई लोगों को सिरदर्द एक हिस्से पर होता है। आधेगोलाकार स्थिति जिसे माईग्रेन से जाना जाता है। माईग्रेन में बहुत तेज दर्द होता है। और लम्बे समय यानि कि 45 घण्टों तक रहता है।

माथा या ललाट सिरदर्द

फोरहेड सिरदर्द का समान्यतय अचानक होता है जैसे कि आप कार्यालय या अन्य जगह पर बैठे हो तो अचानक आपको सिरदर्द की शिकायत होगी। ऐसे स्थिति में गर्म पानी से नहाने से व गर्म पानी के सेवन से सिरदर्द को कम किया जा सकता है।

तनाव व टेन्शन

सिर दर्द खिंचाव तनाव के बढ़ने से होता है। ऐसा सिरदर्द आचानक तेजी से बढ़ता और फिर घटता है यानि कि घटता बढ़ता रहता है और पीड़ादाई होता है। ऐसे स्थिति में ठंड़ी हवा में बैढ़ना व लम्बी लम्बी सांसे लेने से फायदा होता है।

सिर के पीछे सिरदर्द

गर्दन के उपर होने वाला सिरदर्द व्यक्ति के कमर की समस्या या तंत्रिका तंत्र की गड़बड़ी के वजह से होता है। ऐसी स्थिति में थोडा आराम किया जाये या सो लिया जाये तो तुरन्त आराम मिलता है।

कनपटी या कुली सिरदर्द

कनपटी या कुली सिरदर्द का कारण व्यक्ति की जोड़ो की समस्या से तनाव की ओर ले जाता है। आंखों के उपर तेजी से दर्द हाने लगता है। ऐसे स्थितिम में लम्बी ठंडी सांसे लेनी चाहिए और और तुरन्त चिकित्सक को दिखाये। क्योंकि इस तरह का सिरदर्द ज्यादा घातक हो सकता है।

सिरदर्द से बचने के घरेलू उपाय

  • सिर, कंधों, गर्दन पर अरोमा खुशबू वाले तेल से हल्की हल्की मालिश करनी चाहिए, इस से तुरन्त राहत मिलती है।
  • तौलिया को ठंडे पानी में भिगो कर सिरदर्द जगह पर रखे तो काफी आराम मिलता है।
  • नींबू का छिलका पीसकर उसका लेप माथे पर लगाने से माईग्रेन सिदर्द ठीक हा जाता है।
  • देशी घी व कपूर को मिलाकर सिरदर्द हिस्से पर हल्की मालिस से तुरन्त आराम मिलता है।
  • मिश्री व मक्खन का मिलाकर खाने से भी सिरदर्द से काफी आराम मिलता है।
  • गुन गुने पानी में नींबू निचैड़ कर, थोड़ा सा नमक व थोड़ा सा चीन का मिश्रण पीने से से सिरदर्द में आराम मिलता है। 
सिरदर्द व्यक्ति को अपने रोजमर्या आहार में प्रतिदिन हरी पत्ते वाली सब्जियों, दूध, मछली, असली का बीज, बाजरा व अदरक जौड़ दें। क्योंकि इनमें सिरदर्द उपचार गुण: मैगनिशीयम, फाइबर, एंटीआक्सीडेंट, ओमेगा-3, फैटी एसिड, विटामिन, प्रोटीन और मिनरल प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं। जोकि सिरदर्द व्यक्ति के लिए जादुई दवाई का काम करती है और लगातार 6 महीने तक उपरोक्त आहार खाने से सिरदर्द हमेशा के लिए ठीक हो जाता है।