मधुमेह की चेतावनी के संकेत (डायबिटीज) Diabetes Symptoms in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide मधुमेह की चेतावनी के संकेत (डायबिटीज) Diabetes Symptoms in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

मधुमेह की चेतावनी के संकेत (डायबिटीज) Diabetes Symptoms in Hindi

डायबिटीज शुरू होने पर कई लक्षण आरम्भ में दिखने लगते हैं। तरह . तरह की हल्की मोटी शारीरिक समस्याओं से व्यक्ति परेशान होना शुरू हो जाता है। परन्तु व्यक्ति छोटी छोटी शारीरिक समस्याओं को इग्नोर करने लगता है। शुगर और बीमारियों के आगोस में शरीर ग्रस्त हो जाता है। जिससे डायबिटीज लक्षण के साथ कई तरह की बीमारियों शरीर में आसानी से घर बना देती है। और डायबिटीज के साथ शरीर के अन्य अंग किडनी, आंखें, फेफड़े, घुटने दर्द, मस्तिष्क तनाव, शरीर में झनझनाहट, सयंम की कमी, चिड़चिडापन, शामिल हो जाती है। जानिए डायबिटीज के लक्षणों और डायबिटीज ग्रसित के कारण होने वाले शरीर अन्य विकार। जिससे व्यक्ति शुरूआत में ही डायबिटीज पर नियंत्रण कर आसानी से अन्य रोगों से भी बच सकता है।
यदि व्यक्ति शरीर में लगभग 6 -7 डायबिटीज लक्षण मौजूद हैं, तो शुरूआती शुगर पहचानने में देरी न करें। तुरन्त डाॅक्टर की सलाह लें और शुगर को आरम्भ में ही नियंत्रण करें और स्वस्थ जीवन यापन करें।

मधुमेह की चेतावनी के संकेत (डायबिटीज) / Diabetes Symptoms in Hindi / diabetes ke Lakshan / Madhumeh ke Lakshan / Diabetes ke Sanket

मधुमेह- की- चेतावनी- के- संकेत-डायबिटीज, Diabetes- Symptoms- in- Hindi, डायबिटीज के शुरुआती लक्षण, Early Diabetes Symptoms, diabetes ke lakshan, First State Diabetes Symptoms,

वजन अनियंत्रित 
डायबिटीज के आरम्भिक लक्षण में व्यक्ति का वजन अचानक घटने लगता है या फिर वजन तेजी से बढने लगता है। एक शोध में पाया गया है कि शुगर का पहला लक्षण वजन अचानक घटना बढना है। इस तरह की समस्या को इग्नोर न करें। समय समय पर शरीर का वजन जांचते रहना चाहिए। अगर वजन में ज्यादा फर्क हो ता तुरन्त डाॅक्टर से सलाह लें।

बार बार पेशाब आना 
डायबिटीज के शुरूआत में व्यक्ति के शरीर का यूरिन मात्रा अत्यधिक बढ़ जाता है। यूरिन 6 प्रतिशत से 10 प्रतिशत बढ़ जाता है। बढ़ा यूरिन यानिकि डायबिटीज होने का मुख्य लक्षण है। व्यक्ति बार- बार पेशाब जाता है। बार बार पेशाब की समस्या और यूरिन टेस्ट कराने पर बढ़ने पर तुरन्त उपचार करें। यूरिन किड़नी को सीधी प्रभावित करता है। ज्यादा देर तक पेशाब को रोकने से किड़नी का कार्यभार बढ़ता है। किड़नी शरीर का मुख्य अंग है जो फिल्टर का काम करती है। यूरिन बढना नुकसानदेय है।

तेज भूख लगाना 
व्यक्ति को तेज भूख लगाना, खाना खाने के तुरन्त बाद फिर तेज खाने की इच्छा आदि भूख से सम्बन्धित समस्याऐं डायबिटीज के शुरूआती लक्षण है। इसलिए भूख का नियत्रंण से बाहर होने पर तुरन्त चिकित्सक की सलाह लें।

तेज प्यास लगाना
डायबिटीज के शुरूआती लक्षण प्यास बार - बार लगना से भी पाया गया है। शरीर में यूरिन बढ़ने पर व्यक्ति को बार बार प्यास लगती है। और फिर पेशाब लगातार बनी रहती है। 1-2 घण्टे के अन्तराल में बाथरूम से परेशान रहता है।

फोडे-फुंसी समस्या 
शुगर लेवल बढ़ने पर फोडे-फुंसी समस्या अक्सर आरम्भ हो जाती है। या फिर शरीर पर चोट लगने कटने इत्यादि पर घाव का देर तक बना रहना डायबिटीज के लक्षण हैं।

शरीर में झुनझुनहाट 
व्यक्ति को शरीर के अंगों हाथों, कन्धे, जोडों, गर्दन में झुनझुनहाट महसूस होनी शुरू हो जाती है। इस तरह के शरीरिक लक्षण डायबिटीज के संकेत हैं। ऐसे में तुरन्त चिकित्सक से सलाह लें।

आंखें कमजोर होना
आंखों की रोशनी अचानक कमजोर होना, सामने धुंधलापन होना, दूर की नजर साफ नजर नहीं आना, अचानक आंखों में अन्धेरा छाना, इस तरह की समस्याऐं डायबिटीज के संकेत माने जाते हैं।

चोट घाव ठीक न होना
डायबिटीज के शुरूआती लक्षण में व्यक्ति के शरीर में लगे चोट, ठोकर घाव, शीध्र ठीक नहीं होते। व्यक्ति चोट घाव से लम्बे समय तक ग्रस्त रहता है। ठीक होने में ज्यादा वक्त लगता है।

सुनने की समस्या 
डायबिटीज का संकेत कान से भी है। ऐसे में व्यक्ति के कानों के सेल्स डैमेज हो जाते हैं और सुनने में असर पड़ता है। कानों के अन्दर झन - झन की हल्की आवाज महशूस होती है। व्यक्ति को बिना वजह कभी - कभी सुनाई देता है। जोकि डायबिटीज के संकेत हैं।

त्वचा डार्क स्पाॅट 
डायबिटीज के शुरूआत में व्यक्ति की त्वचा जैसे गर्दन की पिछले भाग, घुटनों पर, कोहनियां, हथेली के पीछे हिस्से आदि पर डार्क पैचेस बढ़ जाते हैं। कालापन साफ दिखने लगता है। व्यक्ति का शुगर लेवल बढ़ने पर त्वचा के इस तरह के लक्षण दिखने लगते हैं।

पाचन में अचानक गड़बड़
डायबिटीज के शुआआती लक्षण में एक लक्षण पाचन क्रिया अचानक गड़बना भी है। पेट सख्त रहना, अचानक पेट खराब होना, बिना खाये पेट भर लगना।

शरीर रोग ग्रस्त होना
डायबिटीज के लक्षणों को इग्नोर करने पर शरीर में कई तरह की समस्यऐं उत्पन हो जाती है। जो किड़नी, फेफडे, गैस, पाचन, घुटने को प्रभावित करती है। इसलिए शुगर को इग्नोर न करें। और डाॅक्टर से सलाह लें।

डायबिटीज अन्य लक्षण 
  • बिना वजह घबराहट।
  • बैठे बैठे पसीना आना।
  • शरीर में हल्का हल्का बुखार महसूस करना।
  • कानों में सन्न आवाज महसूस करना।
  • साथ में मायूसी महसूस करना।
डायबिटीज होने पर शुरुआती लक्षण चेतावनी : इस तरह के लगभग 6-7 लक्षण यदि व्यक्ति में दिखने शुरू हो जायें तो ये डायबिटीज होने के संकेत हैं, ऐसे लक्षणों में तुरन्त डाॅक्टर से सलाह लें। शुरूआती डायबिटीज आसानी से नियंत्रण में आ जाती है। कई बार शुरूआती डायबिटीज ठीक भी आसानी से हो जाती है। डायबिटीज लक्षणों को नाकारें नहीं। और शुगर लेवल बढ़ने से रोकें। डायबिटीज एक बार नियंत्रण से बाहर हो जाये तो उम्र भर चलती है। डायबिटीज शरीर के अन्य अंगों किड़नी, फेफडे, घुटनो, रक्त कमी, पाचनतंत्र को शीध्र खराब करती है। इसलिए जरूरी है कि डायबिटीज के उपरोक्त लक्षणों को इग्नोर न करें। समझें, सही उपचार करवायें और आसानी से शुरूआती डायबिटीज से मुक्ति पायें। स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहें।