चुकंदर जूस सलाद आर्युवेदिक औषधि Beetroot Benefits in Hindi Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide चुकंदर जूस सलाद आर्युवेदिक औषधि Beetroot Benefits in Hindi - Margdarsan, Health Tips News Hindi, Expert Advice, Enlighten, Pursuing Knowledge, Helping Guide

चुकंदर जूस सलाद आर्युवेदिक औषधि Beetroot Benefits in Hindi

रिच पोषण गुणों से भरपूर चुकंदर सलाद और जूस सेवन स्वास्थ्य के उत्तम माना जाता है। चुकंदर में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट के रिच मात्रा के साथ साथ कैल्शियम, सोडियम, पोटेशियम, फाॅस्फोरस, विटामिन बी, क्लोरीन, आयोडीन, मैग्नीशियम, मिनरल जैसे महत्वपूर्ण स्वास्थवर्धक तत्व पाये जाते हैं। चुकंदर त्वचा, बालों, रक्त संचार व पाचन तंत्र दुरूस्त - सुचारू रखने का भरपूर भण्डार है। चुंकदर शरीर में ऊर्जा बढ़ाने, हीमोगलोबिन बढ़ाने व थकान मिटाने में कारगर सिद्व है। चुंकदर को "पौष्टिक चुकंदर" भी कहा जाता है।

चुकंदर जूस - सलाद आर्युवेदिक औषधि / चुकंदर के आश्चर्यजन फायदे / Beetroot Benefits in Hindi / Chukandar ke Fayde / Chukandar Ayurvedic Aushadhi

चुकंदर जूस सलाद आर्युवेदिक औषधि, Beetroot Benefits in Hindi, Beetroot benefits in Hindi,  चुकंदर के प्राकृतिक गुण , चुकंदर के फायदे, chukandar ke fayde, chukandar juice, चुकंदर का जूस, chukandar salad, गुणकारी चुकंदर, चुकंदर सलाद, kunkari chukandar, Beetroot Juice Benefits, Health Benefits of Beetroot, Healthy Beetroot
चुकंदर जूस खून बढ़ाये 
चुकंदर में रस व अनार रस मिलाकर पीने से शरीर में रक्त की कमी 1 महीने में पूरी हो जाती है। चुकंदर के लाल रंग में आयरन क्लोरीन की मात्रा होती है, जोकि रक्त कोशिकाओं के पुननिर्माण में सहायक है।

चुकंदर जूस बीपी नियत्रण करें 
चुकंदर जूस में पाये जाने वाले पौष्टिक गुण बीपी होने पर तुरन्त फायदे देते हैं। शरीर को तुरन्त ऊर्जावान बानने में चुकंदर जूस फायदेमंद हैं, रोज सुबह एक गिलास चुकंदर जूस पूरे दिन भर शरीर में ऊर्जा बनाये रखती है। और हार्ट सम्बन्धित समस्त रोगों के चुकंदर का सेवन लाभकारी है।

चुकंदर मोटापा नियंत्रक 
बेटेन नामक तत्व चुकंदर में रिच मात्रा में पाया जाता है, चुकंदर जूस व सलाद सेवन शरीर में चर्बी बढ़ने से रोकता है, और रक्त संचार में धमनियों से बेटेन नामक तत्व को शरीर से हटाने में सहायक है। चुकंदर में आॅक्सीडेन्ट तत्व भी पाये जाते हैं जोकि शरीर को संक्रामण से बचाये रखता है।

पाचन के लिए चुकंदर
चुंकदर के रस में एक-एक चम्मच नींबू रस व शहद मिलाकर सेवन करने से पीलिया-जांडिस, हेपेटाइटिस रोगी के लिए रामबाण दवा है।

बावासीर में चुकंदर
बावासीर होने पर व्यक्ति रात को सोते समय व सुबह खाली पेट चुकंदर का रस में किशमिश मिलाकर पीये तो बावासीर व कब्ज से तुरन्त छुटकारा मिलता है। मिर्च, मसालेदार खाने से परहेज करें, कोशिश करें कि नमक-मिर्च-मसाला एक सप्ताह तक ना के बराबर सेवन करें, ज्यादा फल, फल रस, सलाद दूध इत्यादि खायें।

किडनी व पित्ताशय रोगों में चुकंदर 
चुकंदर, खीरा, गाजर को मिलाकर जूस तैयार कर लें, उसमें चुटकी भर सैंधी नमक डालकर पीने से किडनी व पित्ताशय से सम्बन्धित सम्मस्त विकारों में आराम मिलता है। यह मिश्रण जूस विटामिनस मिनरलस का रिच स्रोत बन जाता है। जोकि दवा का काम करती है।

चुकंदर एन्टीबायोटिक और एंटीसेप्टिक 
चुंकदर के छोटे-छोटे टुक्कडे़ कर आध गिलास पानी में 10 मिनट तक हल्की आंच में उबाले, फिर रस को फुंन्सी, फोड़ो पर लगाने से जल्दी ठीक हो जाते हैं। और त्वचा साफ व ठीक हो जाती है।
चुकंदर के टुक्कडे, अदरक के टुक्कड़े को उबाल कर काढ़ा तैयार करें, उस में एक चम्मच सिरका मिला लें, इसे बालों पर 1 घण्टे के लिए लगा कर छोड दें, बाद में धो लें, यह रूसी बालों का सटीक आर्युवेदिक इर्लाज है।